उत्तराखंड : पिता पुलिस में ASI और बेटी बनी सेना में लेफ्टिनेंट, सीना गर्व से चौड़ा

काशीपुर : उत्तराखंड की बेटी ने एक बार फिर से प्रदेश का नाम रोशन किया है। जी हां बता दें कि काशीपुर जीआरपी में तैनात एएसआई सुभाष चन्द्र की होनहार बेटी अनामिका ने परिवार समेत पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है। बता दें एएसआई की बेटी अनामिका सेना में लेफ्टिनेंट बन गई है जिससे उनके परिवार समेत पूरे क्षेत्र और गांव में खुशी का माहौल है। हर किसी को अनामिका पर गर्व हो रहा है।

आपको बता दें कि अनामिका के पिता ASI सुभाष चंद्र काशीपुर में जीआरपी यानी की रेलवे पुलिस में है जिनकी होनहार बेटी अनामिका ने परिवार समेत पिता का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है। अनामिक सेना में लेफ्टिनेंट बन गई है। पिता को बेटी पर गर्व है। आज हर कोई पुलिस पिता को बेटी के सेना में अधिकारी बनने पर बधाई दे रहा है।
यहां मिली पहली तैनाती
बता दें कि अनामिका ने पासिंग आउट परेड में हिस्सा लिया और सेना में लेफ्टिनेंट बनी हैं। सेना के पठानकोट स्थित आर्मी अस्पताल में पहली तैनाती मिली है। जानकारी के अनुसार अनामिक मूल रुप से ग्राम बरखेड़ा पांडे काशीपुर की निवासी है जो भारतीय सेना में ऑफिसर बनी है। अनामिका के पिता सुभाष चंद्र जीआरपी काशीपुर में एएसआइ जबकि मां संगीता कुशल गृहणी हैं। बहन सलोनी सागर कोटा राजस्थान से एमबीबीएस की कोचिंग कर रही है। भाई आदर्श सागर समर स्टडी हॉल स्कूल में आठवी का छात्र है।उनकी कामयाबी के बाद क्षेत्र में खुशी का माहौल है। उनका परिवार वर्तमान में वैशाली कालोनी में रहता है। साल 2015 में समर स्टडी हॉल स्कूल से प्रथम श्रेणी से 12वीं की परीक्षा में अपना परचम लहराया। वर्ष 2016 में आर्मी कमांड हॉस्पिटल लखनऊ के लिए उनका नर्सिंग ऑफिसर के लिए चयन हुआ। इसके बाद उनकी चार साल की ट्रेनिंग शुरू हुई। 10 मार्च को पास आउट होकर सेना में लेफ्टिनेंट बनी हैं। उन्हें पहली पोस्टिंग सेना के पठानकोट स्थित आर्मी अस्पताल में मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here