उत्तराखंड: ठंड और कोरोना के डर पर आस्था भारी, श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई डुबकी

हरिद्धार: कोरोना के डर और कड़ाके की ठंड के बावजूद मकर संक्रांति पर्व पर हरिद्वार में हरकी पैड़ी समेत अन्य घाटों पर लोगों ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई। ब्रह्म मुहूर्त में लोगों ने पूरी आस्था औ श्रद्धा के साथ मां गंगा में स्नान कर पुण्य अर्जित किया। हालांकि पिछले सालों के मुकाबले इस बार श्रद्धालुओं की संख्या जरूर कम रही, लेकिन आस्था में कोई कमी नजर नहीं आई।

मकर संक्रांति के पावन पर्व पर हरकी पैड़ी सहित क्षेत्र के सभी स्नान घाटों पर ब्रह्म मुहूर्त से ही श्रद्धालुओं के स्नान का क्रम शुरू हो गया। हालांकि, कोविड-19 गाइडलाइन के चलते इनकी संख्या पिछले कुंभ स्नान के लिहाज से कम है पर, आस्था में कहीं कोई कमी नहीं दिखी। श्रद्धालु सुबह से ही गंगा स्नान के लिए स्नान घाटों पर पहुंचने लगे और हर हर गंगे जय मां गंगे के जय घोष के साथ मकर संक्रांति पर्व का पुण्य प्राप्त करने को गंगा में डुबकी लगाने लगे।

उन्होंने इसके साथ गंगा पूजन और दान पुण्य का लाभ भी अर्जित किया। इस दौरान हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड सहित स्नान घाटों पर स्नान के मद्देनजर कोविड-19 गाइडलाइन का पालन होता नजर नहीं आया। इन सबके बीच जैसे-जैसे दिन निकलता जा रहा है, वैसे-वैसे कोहरा बढ़ रहा है। साथ ही बढ़ रही है स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या। इसमें बच्चे बूढ़े महिलाएं और पुरुष सभी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here