उत्तराखंड: इंजीनियरिंग कॉलेज के रजिस्ट्रार को हटाया, ये है बड़ा कारण

देहरादून: कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने विधानसभा में जीबी पन्त इन्स्टीट्यूट ऑफ इन्जीनियरिंग, टेक्नालॉजी बोर्ड गवर्नर (बीओजी) बैठक की अध्यक्षता तकनीकी शिक्षा मंत्री सुबोध उनियाल ने की। बोर्ड बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि पूर्व में की गई रजिस्ट्रार की नियुक्ति निराधार है।

बोर्ड ने फैसला लिया और रजिस्ट्रार की नियुक्ति को निरस्त कर दिया गया। इसके अतिरिक्त हाईकोर्ट के वर्ष 2009 से सम्बन्धित मामलों के अनुपालन के लिए एक कमेटी का गठन किया गया। इसकी रिपोर्ट अगली बोर्ड बैठक में रखी जायेगी। एक अन्य निर्णय के तहत इन्स्टीट्यूट के कार्यवाहक निदेशक पर कार्यवाही सम्बन्धी जिलाधिकारी की रिपोर्ट की समीक्षा अगली बैठक में रखी जायेगी।

कार्मिकों सम्बन्धी मामले में कैरियर एडवान्समेंट स्कीम के तहत पदोन्नति व ग्रेड पे वृद्धि की जायेगी तथा बैठक में स्वैच्छिक सेवानिवृति के प्रस्ताव को स्वीकार किया गया है।
कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि प्रभारी व्यवस्था को समाप्त करके निदेशक के पूर्णकालिक नियुक्ति प्रक्रिया का पालन किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि विभिन्न इन्जीनियरिंग कॉलेज के अलग अलग नियमों को एक अधिनियम के तहत लाया जायेगा। इससे पर्यवेक्षण करने में मदद मिलेगी और पारदर्शी व्यवस्था सुनिश्चित होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here