उत्तराखंड : विधवा भाभी से प्यार कर बैठा था देवर, यहां हुआ प्रेम कहानी का दर्दनाक अंत

हरिद्वार: उत्तरी हरिद्वार से सटे राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क के जंगल में खुदकुशी करने वाली महिला और युवक की पहचान रेवाड़ी हरियाणा निवासी देवर-भाभी के रूप में हुई है। महिला विधवा थी और देवर शादीशुदा था। प्रेम संबंध के चलते दोनों परिवारों में विवाद बना हुआ था। इसके चलते दोनों 10 दिन पहले हरिद्वार आए और आत्महत्या कर ली।

रविवार को खेमानंद मार्ग भीमगोड़ा के पास कुछ बच्चे खेल रहे थे। दुर्गंध आने पर उन्होंने परिवार वालों को इसकी जानकारी दी। टाइगर रिजर्व पार्क कर्मचारियों ने जंगल में 200 मीटर अंदर जाकर देखा कि एक पेड़ पर युवक और युवती लटके हुए हैं। महिला की पहचान सरिता निवासी रेवाड़ी हरियाणा के रूप में हो गई थी। पुलिस ने रविवार देर रात सरिता के परिवार से संपर्क किया तो देवर और विधवा भाभी की प्रेम संबंधों की कहानी निकल कर सामने आई।

बताया गया कि शव सरिता और उसके चचेरे देवर दिनेश निवासी वाल्मीकि बस्ती, सेक्टर छह रेवाड़ी हरियाणा का है। सरिता के पति की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। उसके तीन बच्चे हैं। जबकि दिनेश दो बच्चों का पिता था। दोनों के बीच प्रेम संबंध थे। कुछ दिन पहले ही दोनों घर से फरार हुए थे। दोनों के परिवारों में उनके रिश्ते को लेकर भारी विरोध बना हुआ था। माना जा रहा है कि इसीलिए दोनों ने हरिद्वार आकर जान दी है। दोनों 10 दिन पहले घर से निकले थे।

पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव परिजनों को सौंप दिए गए है। दोनों की शादी को लेकर लगी थी पंचायत हरियाणा से आए रिश्तेदारों ने पुलिस को बताया कि दिनेश और सरिता शादी करना चाहते थे। उनके परिवार इसके लिए राजी नहीं थे। इस बात को लेकर पंचायत भी लगी, जिसमें दोनों ने एक-दूसरे शादी से करने की इच्छा जताई थी। मगर पंचायत में भी शादी को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here