उत्तराखंड: उड़ान भरने को तैयार देवभूमि की बेटी, जांबाजी के किस्सों ने बनाया फ्लाइंग आफिसर

देहरादूनः निधि बिष्ट। मूल रूप से पौड़ी की असवालस्यूं पट्टी की रहने वाली हैं। वर्तमान में उनका परिवार केदारपुरम देहरादून में रहता है। निधि बिष्ट आसमान में उड़ान भरने के लिए तैयार हैं। 19 जून को वो भारतीय वायु सेना की हैदराबाद एयर फोर्स एकेडमी से पासआउट होर फ्लाइंग अफसर बन जाएंगी।

साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाली निधि का पहला सपना सिविल सेवा में जाकर देश की सेवा करना था। हालांकि, जांबाजों की कहानियों से प्रेरित होकर उन्होंने सेना में जाने का निश्चय किया। निधि बिष्ट का जन्म 1996 में पौड़ी के अस्वालस्यूं क्षेत्र महड़ गांव में हुआ। उनकी मां ऊषा बिष्ट गृहणी हैं और पिता अनिल बिष्ट निजी क्षेत्र में कार्यरत हैं।

एफआरआइ से स्नातकोत्तर व पीएचडी करने वाली निधि के पास वानिकी अनुसंधान के रूप में करियर बनाने का सुनहरा अवसर था। हालांकि, इसके अलावा पूर्व में उन्होंने तय किया था कि वह सिविल सेवा में जाएंगी। फिर वक्त ने करवट ली और उन्हें सेना की जांबाजी के किस्से प्रेरित करने लगे। उन्हें लगने लगा कि देश की सच्ची सेवा सिर्फ सेना में जाकर ही की जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here