उत्तराखंड : विभाग की खास पहल, ऐसे फिर से पटरी पर लौटेगा पर्यटन

देहरादून: उत्तराखंड पर्यटन द्वारा 26 से 28 फरवरी के मध्य कोलकाता में आयोजित  हुए travel and tourism fair 2021 प्रतिभाग किया गया। आयोजन के दौरान पश्चिम बंगाल उत्तर-पूर्व के राज्यों नागालैंड आसाम मेघालय  तथा अंडमान निकोबार आदि राज्यों के प्रमुख ट्रैवल एजेंट एवं टूर ऑपरेटर्स के साथ नेटवर्किंग की गई। इसके अतिरिक्त बंगाल के लोगों को आगामी चार धाम यात्रा तथा ग्रीष्मकालीन पर्यटन हेतु आमंत्रित करना इस आयोजन का प्रमुख उद्देश्य रहा।

सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि राज्य सरकार  कोरोना काल के पश्चात राज्य के पर्यटन उद्योग के पुनरुत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में विभाग पर्यटन विभाग द्वारा देशभर में आयोजित होने वाले प्रमुख ट्रैवलमार्ट एवं प्रदर्शनों में प्रतिभाग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा राज्य के पर्यटन क्षेत्र के स्टेकहोल्डर्स के साथ इन आयोजनों में भाग लिया जाता है, जिसमें वह दूसरे राज्यों की ट्रैवल एजेंट एवं टूर ऑपरेटर के बीच अपने व्यवसाय का भरपूर प्रचार प्रसार करते हैं।

इस आयोजन में उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व जनसंपर्क अधिकारी कमल किशोर जोशी ने किया। उनके अनुसार उत्तराखंड, बंगाल के पर्यटकों के लिए एक अत्यंत प्रिय गंतव्य है। कोविड काल के बाद उत्तराखंड आने के लिए बंगाल के लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला है। अगर हम चार धाम यात्रा में बंगाल के पर्यटकों को आमंत्रित करने में सफल होते हैं तो इससे चारधाम यात्रा मार्ग पर निवास करने वाले लोगों को रोजगार मिलेगा, होटल व्यवसाय पुनर्स्थापित हो सकेगा और राज्य के पर्यटन व्यवसायियों की आमदनी में वृद्धि होगी। समापन समारोह के दौरान बंगाल के लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मां गंगा, मां दुर्गा, चार धाम, गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर और स्वामी विवेकानंद, बंगाल और उत्तराखंड के  मध्य एक अटूट रिश्ता स्थापित करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here