उत्तराखंड : सरकार के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी में कांग्रेस, सरकार पर बड़ा आरोप

देहरादून : उत्तराखंड सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच में परिसंपत्ति बंटवारे को लेकर समझौता होने का सीएम धामी ने दावा किया है लेकिन इस पर कांग्रेस भाजपा सरकार पर हमलावर हो गई है। एक ओर सरकार 21 साल बाद बड़े मामले को सुलझाने का दावा कर रही है तो वहीं कांग्रेस का आरोप है कि सीएम धामी सत्ता की लालच में आकर केंद्र के इशारों पर ये कर रहे हैं। कांग्रेस ने सरकार पर उत्तराखंड को बेचकर आने का आरोप लगया है। कांग्रेस का आरोप है कि मुख्यमंत्री ने यूपी के मुख्यमंत्री के आगे समर्पण कर दिया।
कांग्रेस सरकार पर आक्रामक 
यूपी उत्तराखंड परिसंपत्ति विवाद मामले में दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच हुई बातचीत को लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर आक्रामक नजर आ रही है। कांग्रेस का आरोप है कि सरकार परिसंपत्ति मामलों को लेकर कोर्ट में लंबित चल रहे मामलों को वापस लेने की बात कर रही है, जो कि उत्तराखंड के लिए सही नहीं है। साथ ही कांग्रेस का कहना है कि जैसे ही सरकार न्यायालय में लंबित परिसंपत्तियों के मामलों को वापस लेगी कांग्रेस अपनी आपत्ति दर्ज करने के लिए न्यायालय से अनुमति लेगी।
वर्तमान सरकार प्रदेश के हितों के साथ ऐसे समझौते करके खिलवाड़ कर रही है-गोदियाल

वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष लगातार परिसंपत्ति के बंटवारे को लेकर सवाल खड़े करते आए हैं, जहां कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं तो दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी परिसंपत्ति के बंटवारे में सरकार को फेल बता रहे हैं. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि परिसंपत्तियों के मामले से प्रदेश का हित जुड़ा हुआ है और वर्तमान सरकार प्रदेश के हितों के साथ ऐसे समझौते करके खिलवाड़ कर रही है।

आज कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने एक बार फिर से सरकार पर हमला किया औऱ कहा कि हम परिसंपत्ति के बंटवारे को लेकर कोर्ट में जाएंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का एक बयान सामने आया जिसमें वह कह रहे हैं कि हम कोर्ट में लंबित मामलों में वापस लेंगे। वहीं जैसे ही सरकार इन मामलों को वापस लेगी हमने तय कर रखा है कि वैसे ही हम कोर्ट में जाने की इजाजत मांगेंगे।
परिसंपत्तियों के समझौते के दिन को बताया काला दिन

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उत्तराखंड का उत्तर प्रदेश के साथ हुए परिसंपत्तियों के समझौते के दिन को काला दिन बताते हुए कहा कि कांग्रेस इस समझौते को पूरी तरह से खारिज करती है। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड के हितों के लिए उनका लखनऊ दौरा ऐतिहासिक रहा। परिसंपत्तियों के बंटवारे के एक-एक बिंदु पर सहमति बन गई है। हरीश रावत ने आरोप लगाते हुए कहा है मुख्यमंत्री ने यूपी के मुख्यमंत्री के आगे समर्पण कर दिया। कांग्रेस इस मसले को लेकर राजभवन और सुप्रीम कोर्ट जाएगी। उन्होंने कहा कि परिसंपत्तियों के मसले पर भाजपा सरकार में दो बार समझौते हुए, लेकिन इसमें केवल शब्दों में उलटफेर और उत्तराखंड के साथ अंधेर हुआ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here