उत्तराखंड: कार्यक्रम में मौजूद नहीं रहे विधायक, कांग्रेस ने गिनाए कारण

 

देहरादून: उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी की गढ़वाल मंडल मीडिया प्रभारी प्रदेश प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसोनी ने बताया कि मीडिया में सत्ता पक्ष के द्वारा विपक्ष के विधायकों की गैरमौजूदगी की भ्रामक खबरें फैलाई जा रही हैं। दसोनी ने कहा कि यह बात सच है के प्रदेश अध्यक्ष के पदभार ग्रहण समारोह में और नेता प्रतिपक्ष के कार्यभार ग्रहण के अवसर पर कांग्रेस के आधे विधायक गण नहीं उपस्थित हो पाए परंतु हर एक विधायक की अनुपस्थिति के पीछे वाजिब कारण हैं।

दसोनी ने बताया की बद्रीनाथ विधायक राजेंद्र भंडारी एवं किच्छा विधायक तिलकराज बेहड़ जी स्वास्थ्य ठीक ना होने के कारण दोनों ही अवसरों पर अनुपस्थित रहे। वहीं, दसोनी ने बताया कि चकराता विधायक और पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह के क्षेत्र में बड़ी दुर्घटना हुई है जिसमें एक ही परिवार के 4 लोगों की क्षति हुई है इसी वजह से प्रीतम सिंह जी भी दोनों ही अवसर पर नहीं पहुंच पाए।

नानकमत्ता विधायक गोपाल सिंह राणा जी प्रदेश से बाहर होने की वजह से प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत समारोह में नहीं पहुंच पाए परंतु आज नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य जी के पदभार ग्रहण समारोह में उपस्थित रहे। गरिमा ने यह भी बताया की भगवानपुर विधायक ममता राकेश एव पिरान कलियर से विधायक फुरकान अहमद के क्षेत्र में चल रहे धार्मिक उन्माद की घटनाओं के कारण प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत समारोह में नहीं पहुंच सके जिसका उन्होंने खेद जताया परंतु दोनों ही विधायक आज विधानसभा परिसर में नेता प्रतिपक्ष के कार्यभार ग्रहण समारोह में उपस्थित रहे।

लोहाघाट विधायक खुशाल सिंह अधिकारी ने पत्र लिखकर प्रदेश अध्यक्ष करण मेहरा एवं नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य से निजी कारणवश उपस्थित ना होने की वजह से खेद जताया है। गरिमा ने कहा कि आज सत्तापक्ष को इस बात की चिंता नहीं है कि उनकी कैबिनेट बैठकों में मंत्री और अधिकारी अनुउपस्थित हो रहे हैं लेकिन उनका पूरा ध्यान इस तरफ केंद्रित है कि विपक्ष के आयोजनों में कौन आ रहा है कौन नहीं। दसोनी ने सत्ता पक्ष को नसीहत देते हुए कहा कि सत्तापक्ष को चाहिए कि वह प्रदेश के विकास में और शासन प्रशासन की कमियों को दूर करने में अपना ध्यान केंद्रित करें ना कि विपक्ष पर ही अपनी पूरी एनर्जी और क्षमता लगा दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here