उत्तराखंड : 4 साल के जश्न की थी तैयारी, 9 दिन पहले चली गई CM की कुर्सी

देहरादून: पिछले तीन-चार दिनों से चल रही सियासी उठापटक के बीच सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिल्ली से लौटने के बाद पत्रकारों से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि आरएसएस से लेकर अब तक के करियर और मुख्यमंत्री के रुप में पार्टी ने मुझे सेवा करने का मौका दिया। प्रेम काॅन्फ्रेंस हाॅल में आने के बाद त्रिवेंद्र रावत मुस्कराते हुए नजर आए।

उन्होंने भावनात्मक रूप से यह भी कहा कि वो सैनिक के बेटे हैं और छोटे परिवार से हैं। लेकिन, उनको दर्द इस बात में साफ नजर आया कि 4 साल में केवल 9 दिन बाकी रह गए थे। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार 4 साल का जश्न मनाने की तैयारी कर रही थी। सारा कार्यक्रम सीएम त्रिवेंद्र रावत के नेतृत्व में ही प्रदेशभर में बड़े स्तर पर मनाने की तैयारी चल रही थी।

पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया। मैंन कभी कल्पना भी नहीं की थी, उतना पार्टी ने मुझे दिया। सोच भी नहीं सकता कि मुझे इतना बड़ा सम्मान दिया। उन्होंने कहा कि यह केवल भाजपा में ही संभव था कि एक छोटे से गांव के छोटे से कार्यकर्ता को इतनी महत्वूपर्ण जिम्मेदारी दी गई।

उन्होंने कहा कि मैने घसियारी कल्याण योजना और महिलाओं के लिए कई योजनाएं संचालित की। बेटियों को पिता की संपत्ति में अधिकार दिलाया। निवर्तमान सीएम ने कहा कि कल जो भी सीएम के लिए चेहरा चुना जाएगा। उनको मेरी तरफ से ढेरों शुभकामनाएं। सीएम से जब कारणों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने सभी सहयोगियों और पत्रकारों को धन्यवाद दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here