उत्तराखंड ब्रेकिंग: दवा की हाई डोज देकर महिला से 10 दिनों तक दुष्कर्म, गई आंखों की रोशनी!

देहरादून: पिछले दिनों राजधानी देहरादून में गांधी शताब्दी में मिली राजस्थान की महिला के साथ नशे की दवा की हाई डोज देकर दुष्कर्म की बात सामने आई है। इतना ही नहीं, यह बात भी सामने आई है कि नशे की हाई डोज देने से महिला की आंखों की रोशन भी चली गई थी। राजस्थान की पाली पुलिस ने आरोपी झोलाछाप डॉक्टर को देहरादून के पास से गिरफ्तार भी कर लिया है।

बताया जा रहा है कि महिला के साथ 10 दिनों तक दुष्कर्म किया गया है। पुलिस के अनुसार महिला से आरोपी ने दवाई खिलाकर दुष्कर्म किया। पिछले सप्ताह एक महिला व्यक्ति के साथ देहरादून के गांधी शताब्दी अस्पताल पहुंची थी। उन्होंने पहले नेत्र रोग विशेषज्ञ को दिखाया और फिर महिला डॉक्टर के पास गए। इसी बीच दोनों में झगड़ा हुआ तो व्यक्ति उसे छोड़कर भाग गया।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जब पूछताछ की तो पता चला कि पुरुष उस महिला के गांव का ही रहने वाला झोलाछाप डॉक्टर था। महिला के अनुसार उसने एक इंजेक्शन लगाया था, जिसके बाद उसकी आंखों की रोशनी कमजोर हो गई। इलाज के बहाने वह उसे देहरादून लेकर आया था। स्थानीय पुलिस ने राजस्थान पुलिस से संपर्क किया तो पता चला कि महिला की तो पाली जनपद में गुमशुदगी दर्ज है।

दो दिन बाद राजस्थान पुलिस महिला के परिजनों को लेकर पहुंच गई। यहां से महिला को वापस ले जाया गया, लेकिन अब राजस्थान की पाली पुलिस ने उस झोलाछाप डॉक्टर को भी देहरादून से गिरफ्तार कर लिया है। इससे कहानी बिल्कुल बदल गई। पाली के पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि महिला के साथ दुष्कर्म किया गया है। इसकी मेडिकल रिपोर्ट में भी पुष्टि हो चुकी है।

पाली पुलिस के अनुसार महिला के साथ 10 दिनों तक दुष्कर्म किया गया। उसने उसे दवाई ही इसलिए खिलाई थी कि उससे बार-बार दुष्कर्म किया जा सके। बताया जा रहा है कि डॉक्टर ने उसे एक इंजेक्शन भी दिया था। इसी की हाई डोज के कारण महिला की आंखों की रोशनी जाने का अंदेशा जताया जा रहा है। अस्पताल के बाहर बद्रीधर की कार भी मिली थी। इस कार में एक फाइल मिली थी। पाली पुलिस के अनुसार इस फाइल की भी पड़ताल की जा रही है। अंदेशा है कि शायद यह महिला भी उस झोलाछाप डॉक्टर का शिकार हुई हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here