उत्तराखंड ब्रेकिंग : यहां 44 लोग डाल गए किसी और का वोट, नहीं आई आयोग की सख्ती काम

उत्तराखंड में 14 फरवरी को मतदान हो चुका है। इस बार उत्तराखंड में 65 प्रतिशत से अधिकर मतदान हुआ। वहीं बता दें कि इस बार लोगों ने चुनाव में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया खास तौर पर महिलाएं वोट देने के लिए घरों से बाहर निकलीं। वहीं 14 मार्च को रिजल्ट आएगा। लेकिन इससे पहले बड़ी खबर है। जी हां बता दें कि चुनाव आयोग की सख्ती के बाद भी कुछ लोग दूसरे के मत डाल गए। वास्तविक मतदाता जब मतदान के लिए बूथ पर पहुंचे, तब उन्हें इसकी जानकारी मिली कि उनका वोट कोई और डाल गया जिसे टेंडर वोट कहते हैं।

मिली जानकारी के अनुसार इस बार उधमसिंह नगर जिले में 44 टेंडर वोट डाले गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार उधमसिंह नगर के काशीपुर और बाजपुर में 21-21 टेंडर वोट डाले गए तो वहीं सितारगंज में दो टेंडर वोट डाले गए हैं।

जानिए क्या होता है टेंडर वोट

आपको बता दें कि जब कोई व्यक्ति अन्य दस्तावेज दिखाकर दूसरे का मत डाल देता है तो वास्तविक मतदाता इसकी आपत्ति जताता है। पीठासीन अधिकारी उसके कागजात की जांच करते हैं, सही साबित होने पर उसे टेंडर वोट का अधिकार दिया जाता है। टेंडर वोट की अहमियत ये है कि मतगणना के दौरान जब 2 प्रत्याशियों को बराबर मत मिलते हैं तो 2 बार वोटों की गिनती कराई जाती है। इसके बाद भी मत बराबर होते हैं तो टेंडर मत की गिनती होती है। हालांकि अभी तक किसी भी चुनाव में टेंडर मतों की गिनती की नौबत नहीं आ पाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here