उत्तराखंड : DGP का बड़ा फैसला, इन पुलिसकर्मियों को मिली राहत

देहरादून : कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर से कहीं अधिक तेज और खतरनाक है। दूसरी लहर शुरू होते ही प्रदेशभर में उत्तराखंड पुलिस के जवान लोगों की मदद करने में जुट गए थे। पुलिस ने प्रदेशभर में मिशन हौसला अभियान शुरू किया है। इस अभियान में सभी पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। लेकिन, अब डीजीपी अशोक कुमार ने 55 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों और ऐसे महिला पुलिसकर्मी जिनका बच्चे 1 साल उम्र के हैं, फ्रंटलाइन ड्यूटी से राहत देने का आदू जारी किया है।

पुलिसकर्मी वर्तमान में विभिन्न फन्ट लाइन ड्यूटियों में यथा बैरियर चैकिंग, अस्पताल ड्यूटी, श्मशानघाट ट्यूटी, दाह संस्कार आदि में नियुक्त है। वर्तमान में 2000 से भी अधिक पुलिसकर्मी कोविड पॉजिटिव हो गये है, साथ ही कई पुलिस परिवार भी कोविड पॉजिटिव है।

उक्त के दृष्टिगत निर्देशानुसार अवगत कराना है कि कोविड की लहर को देखते हुए ऐसे पुलिस कार्मिकों को जिनकी आयु 55वर्ष से अधिक हो तथा जो महिला गर्भवती हो एवं जिन महिलाओं का शिशु 1 वर्ष से कम का हो उन्हें कोविड फन्ट लाइन ड्यूटी से मुक्त रखा जाय और उन्हें ऐसे कार्य दिये जायें जिनमें जनसम्पर्क कम से कम हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here