उत्तराखंड : मंदिरों के बाहर लगे बैनर…गैर हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है, पुलिस ने हटाए

देहरादून: राजधानी देहरादून के मंदिरों के बाहर बैनर लिगा दिए गए है। उन पर लिख दिया गया कि यह हिन्दुओं का पवित्र स्तल है। यहां गैर हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस ने बैनर हटाने की कार्रवाई की शुरू कर दी। बैनर हटाते ही हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारियों ने भी सोशल मीडिया में ऐलान कर दिया कि अगर ये गलत है, तो वो इसको फिर दोहराएंगे।

मामले में पुलिस ने धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में हिंदु युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बैनर पर मंदिर में गैर हिंदुओं का आना प्रतिबंधित लिखा हुआ था। घंटाघर स्थित प्राचीन शिव मंदिर पर कुछ दिन पहले एक बैनर लगाया गया था। इस तरह के बैनर देहरादून के करीब 150 से ज्यादा मंदिरों में लगाए ग्ए थे। इस पर लिखा था कि यह तीर्थ हिंदुओं का है और यहां पर किसी गैर हिंदू का आना प्रतिबंधित है। रविवार को लोगों ने इसकी शिकायत पुलिस से की।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मामले में जांच की गई। जांच में पाया गया कि बैनर पर एक मोबाइल नंबर भी लिखा हुआ है। यह मोबाइल नंबर किसी जीतू रंधावा का है। ऐसे में हिंदू युवा वाहिनी का प्रदेश महासचिव जीतू रंधावा के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हिंदु युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द वाधवा का कहना है कि अब हिंदु समाज को अपनी ताकत दिखाते हुए अपने धर्म और समाज की रक्षा के लिए स्वयं आगे आना होगा। सब कुछ सरकार के भरोसे नही छोड़ा जा सकता। उन्होंने कहा की जिस भी मंदिर मे कोई विधर्मी अंदर घुसता है तो उसे मौके पर पकड़कर पुलिस के हवाले किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here