उत्तराखंड: आज इन जिलों के लिए अलर्ट, यमुनोत्री और बदरीनाथ हाईवे बंद

देहरादून: बारिश का कहर जारी है। लगातार बारिश के कारण मार्ग बंद हो रहे हैं, जिसके चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इधर, मौसम विभाग ने फिर से अलर्ट जारी किया है। ऐसे में लोगों को फिलहाल राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। रुद्रपुर, बाजपुर, बागेश्वर, यमुनोत्री घाटी में बादल छाए हुए हैं।

मौसम विभाग ने भी आज उत्तरकाशी, टिहरी, देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी और अल्मोड़ा में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। उधर, पहाड़ो की रानी मसूरी में भी बारिश जरी है। शहर में बारिश के कारण घना कोहरा छाया हुआ है।यमुनोत्री हाईवे ओजरी डबरकोट मे भूस्खलन होने से बंद हो गया। वहीं, बदरीनाथ हाईवे भी चमधार में मलबा आने से बाधित है। एनएच की टीमें मलबा हटाने में जुटी हैं। अनुमान है दोपहर तक सड़क से मलबा हटा लिया जाएगा।

भारी बारिश से तवाघाट-नारायण आश्रम, मटियाल बैंड-उपरतोला, कोटा-पंद्रहपाला, बांसबगड़-धामीगांव, मंसूरी-कांडा-होकरा, गिन्नी बैंड-समकोट, आदिचौरा-सिन्नी, कालिका-खुमती, पिथौरागढ़-तवाघाट और चीन सीमा को जोड़ने वाली तवाघाट-घट्टाबगड़, तवाघाट-सोबला सड़कें बंद हैं। भूस्खलन के कारण दो सप्ताह से बंद पड़ी जौरासी-तोणजी सड़क से अब किमोठा गांव खतरे की जद में आ गया है। लगातार हो रही बारिश से गांव के समीप गदेरे में भू-कटाव हो रहा है। ग्रामीणों ने डीएम को ज्ञापन भेजकर सुरक्षा के उपाय करने की मांग की।

किमोठा गांव के प्रधान मधुसूदन किमोठी, विनोद लाल, तोणजी के प्रधान मुकेश नेगी, उप प्रधान दिगपाल सिंह, महिला मंगल दल अध्यक्ष गणेशी देवी, सत्येंद्र नेगी, मातबर सिंह और हुकुम नेगी ने कहा कि सड़क का गलत समरेखण, सुरक्षा दीवार और नालियों का निर्माण न होने से सड़क का पानी और मलबा गांव तक पहुंच रहा है। साथ ही बारिश से गदेरे में भू-कटाव हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here