उत्तराखंड: इस अस्पताल में हो गई थी 65 मरीजों की मौत, इतने दिनों बाद सामने आई हकीकत

हरिद्वार: कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। राज्य में कोरोना से मौत का आंकड़ा रोजाना बढ़ता जा रहा है। लेकिन, एक ऐसा खुलासा हुआ है, जिसनेन सबको चैंका दिया। हरिद्वार जिल जिले के एक निजी अस्पताल ने कोरोना मरीजों की मौत के मामलों को छिपाया गया। 19 दिनों के बाद अस्पताल में 65 मरीजों की मौत का खुलासा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इस मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है।

हरिद्वार स्थित बाबा बर्फानी हॉस्पिटल प्रशासन ने कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत की सूचना स्वास्थ्य विभाग को नहीं दी है। सरकार की ओर से पूर्व में भी कोरोना का इलाज कर रहे अस्पतालों को निर्देश दिए गए कि कोरोना मरीजों की मौत की सूचना 24 घंटे के भीतर राज्य कोविड कंट्रोल रूम को दें।

बाबा बर्फानी हॉस्पिटल में 25 अप्रैल से 12 मई तक उपचार के दौरान 65 कोरोना मरीजों की मौत हुई थी। लेकिन अस्पताल प्रशासन की ओर से इसकी सूचना राज्य कोविड कंट्रोल रूम को नहीं दी गई। राज्य कोविड कंट्रोल रूम के चीफ आपरेटिंग आफिसर डॉ. अभिषेक त्रिपाठी का कहना है कि कोरोना मरीजों की मौत की सूचना समय पर न देने के मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है। जांच के बाद मरीजों की मौत की जानकारी सामने आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here