दो बेटियों ने लिया पिता की हार का बदला, जहां से पिता हारे वहां गाड़ा जीत का झंडा

देहरादून : भाजपा एक बार फिर से सत्ता में आ रही है। भाजपा ने 48 सीटें हासिल की है तो वहीं कांग्रेस ने 19 सीटें हासिल की है। इनमें दो महिला प्रत्याशियों का नाम काफी चर्चाओं में है। क्योंकि दोनों महिला प्रत्याशियों के पिता इसी सीट से हार चुके हैं। दोनों बेटियों ने पिता की हार का बदला लिया है।

आपको बता दें कि कोटद्वार सीट से भाजपा प्रत्याशी रीतू खंडूरी को 21938 हासिल हुए हैं और उन्होंने जीत हासिल की है। रीतू खंडूरी के पिता बीसी खंडूरी कोटद्वार सीट से 2007 से चुनाव लड़े थे लेकिन वो हार गए। वहीं हरीश रावत 2017 में हरिद्वार ग्रामीण से चुनाव लड़े थे लेकिन वो चुनाव हार गए। वहीं दोनों बेटियों ने पिता की हार का बदला लिया और 2022 में चुनाव के मैदान में उतरकर जीत हासिल की। बता दें कि रीतू खंडूरी को कोटद्वार में 21938 वोट हासिल हुए तो वहीं हरिद्वार ग्रामीण सीट से कांग्रेस प्रत्याशी हरीश रावत की बेटी अनुपमा रावत को 47181 मिले।

दोनों बेटियों ने वहां जीत हासिल की जहां से उनके पिता को हार का सामना करना पड़ा था। हरीश रावत तो चुनाव हार गए लेकिन उनकी बेटी ने इस चुनाव में जीत हासिल की है। जो की कहीं ना कहीं हरीश रावत को राहत जरुर देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here