त्रिवेंद्र रावत को अचानक बुलाया दिल्ली, क्या उत्तराखंड में ‘रावत’ again?

उत्तराखंड का अगला सीएम कौन होगा इस पर सस्पेंस बरकरार है। इस पर मंथन जारी है जो की जल्द खत्म हो जाएगा। धामी समेत तमाम मंत्री विधायकों की दिल्ली दौड़ जारी है। आने वाले एक दो दिनों में सीएम के नाम का ऐलान हो जाएगा। बैठकों का दौर जारी है। खबर है कि दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की बैठक चल रही है। इस बैठक के लिए पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को तो वहीं आज भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और कार्यवाहक सीएम धामी को दिल्ली बुलाया गया है।

अचानक त्रिवेंद्र रावत को दिल्ली बुलाए जाने से सियासी गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई है। लोग कह रहे हैं क्या उत्तराखंड में रावत अगेन? शुक्रवार को पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को अचानक से दिल्ली बुलाए जाने से सियासी गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई है, रावत को दिल्ली बुलाए जाने से उनके समर्थकों में उत्साह जाग गया है।

विधायकों को आज देहरादून बुलाए जाने की खबर थी लेकिन अधिकतर विधायकों के देहरादून न पहुंचने की खबर है। त्रिवेंद्र रावत के दिल्ली तलब होने के बाद राजनीति का पहिया एक बार फिर से 2017 की तरफ घूमता लग रहा है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में सवाल उठ रहा है कि क्या भाजपा एकबार फिर से त्रिवेंद्र सिंह रावत को बागडोर सौंप सकती है? हालांकि त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि इसका फैसला हाईकमान करेगा। खबर है कि बीजेपी हाईकमान ने केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट को भी दिल्ली बुलाया है। वो दिल्ली में हैं। खबर है कि यूपी में शपथ ग्रहण से पहले उत्तराखंड में मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल की शपथ हो सकती है

सीएम की दौड़ में ये नाम शामिल

पुष्कर सिंह धामी (कार्यवाहक मुख्यमंत्री), अनिल बलूनी , अजय भट्ट, रमेश पोखरियाल निशंक, सतपाल महाराज, डॉ धन सिंह रावत, प्रेमचंद अग्रवाल, मदन कौशिक, ऋतु खंडूरी .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here