आज छुट्टी आना था घर लेकिन तिरंगे में लिपटे और ताबूत में लेटे पहुंचे शहीद जगेंद्र चौहान

सियाचिन में शहीद हवलदार जगेंद्र सिंह चौहान का पार्थिव शरीर उत्तराखंड पहुंच गया है। बता दें कि शहीद का पार्थिव शरीर बीते दिन 3 बजे रुड़की स्थित एमएच में लाकर रखा गया और आज सुबर  डोईवाला स्थित शहीद के आवास पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। पार्थिव शरीर को देख सबकी आंखें नम हो गई. शहीद की पत्नी फफक फफक कर रो पड़ी। माता पिता रो रोकर बेसुध हो गए।

आपको बता दें कि बीते दो दिन पहले ड्यूटी में गश्त के दौरान ग्लेशियर टूटने के कारण कान्हरवाला डोईवाला निवासी हवलदार जगेंद्र सिंह चौहान शहीद हो गये। गुरुवार को उनका पार्थिव शरीर को सेना के विमान से दिल्ली एयरपोर्ट लाया गया है, इसके बाद सडक़ मार्ग से जगेंद्र चौहान का पार्थिव शरीर को शाम करीब  3 बजे रुडक़ी एमएच पहुंचाया गया। रुडक़ी से बलिदानी जगेंद्र के पार्थिव शरीर को सुबह 8 बजे डोईवाला स्थित उनके आवास पर लाया गया। पार्थिव शरीर को देख सभी की आंखें नम हो गई। हर किसी की आंखों में आंसू थे।

बता दें कि हवलदार जगेंद्र सिंह चौहान आज 25 फरवरी को ही छुट्टी लेकर घर आने वाले थे। लेकिन इससे पूर्व ही ड्यूटी के दौरान हादसे में वह शहीद हो गये। उसके बाद मौसम खराबी के चलते बुधवार को उनका पार्थिव शरीर नहीं पहुंच सका। आज सुबह 25 फरवरी को ही उनका पार्थिव शरीर घर पहुंचा। हरिद्वार गंगा तट पर उनका अंतिम संस्कार सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here