हो सकता है किसी भी विधायक को ना छोड़नी पड़े अपनी सीट, सीएम यहां से लड़ सकते हैं चुनाव

देहरादून : मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के लिए कौन विधायक सीट छोड़ेंगे, इस पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा। भाजपा के वरिष्ठ नेताओं में इस पर मंथन शुरू हो गया है। Cm तीरथ ने 10 मार्च को सीएम पद की शपथ ली थी। पद पर बने रहने को उकना छह माह में विधानसभा के लिए निर्वाचित होना जरूरी है। इस हिसाब से उन्हें 10 सितंबर से पहले विधायक का चुनाव जीतना होगा।

वहीं अब चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। सभी के दिल और दिमाग में एक ही सवाल है कि आखिर कौन विधायक सीएम के लिए सीट छोड़ेगा और किस सीट से सीएम तीरथ सिंह रावत चुनाव लड़ेंगे लेकिन आपको बता दें कि हो सकता है कि किसी भी विधायक को सीएम के लिए सीट छोड़नी ना पड़े। जी हां यह तो सब जानते हैं कि गंगोत्री से विधायक गोपाल रावत का निधन हो गया है। वहीं गंगोत्री विधानसभा सीट खाली है। ऐसे में हो सकता है कि किसी विधायक को अपनी सीट ना छोड़नी पड़े और सीएम तीरथ सिंह रावत गंगोत्री विधानसभा सीट से चुनाव लड़े।

बता दें कि बीते दिनों गंगोत्री पहुंचे सीएम तीरथ सिंह रावत से वहां के नेताओं कार्यकर्ताओं और लोगों ने एकमत होकर गंगोत्री विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की अपील की थी। ऐसे में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया था और चर्चा शुरू हो गई थी कि सीएम तीरथ सिंह रावत गंगोत्री विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं क्योंकि अगर वह वहां से चुनाव लड़ते हैं तो किसी भी विधायक को अपनी सीट देनी नहीं पड़ेगी। हालांकि कई विधायकों ने अपनी सीट छोड़ने के लिए सीएम को कहा है जिसमें पौड़ी की विधायकों समेत हरक सिंह रावत महेंद्र भट्ट भी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here