रामनगर : देश में पहली बार कॉर्बेट पार्क में महिला चालक कराएंगी पर्यटकों को सफारी की सैर

रामनगर : कल तक घर की चारदिवारी में रहने वाली महिलाएं आज घर के दहलीज के बाहर भी अपने सपने देख सकने के काबिल हुई हैं और अपनी कमाई से परिवार का पेट पाल रही है. शिक्षा, और अन्य क्षेत्र में महिलाओं को बढ़ावा देने के कारण महिलाएं आज एक शक्ति के रुप में उभर रही है. आज के समय में महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं या उनसे आगे चल रही हैं जो की देश के लिए, समाज के लिए एक गर्व और सराहना की बात है.अब तो ऐसी कोई जगह नहीं है, जहां आज की नारी अपनी उपस्थिति दर्ज न करा रही हो.

 

आज राजनीति का क्षेत्र हो या टेक्नोलोजी, सुरक्षा का क्षेत्र हो या वाहन दौड़ाने का, हर जगह महिलाओं ने हाथ आजमाया उसे कामयाबी ही मिली जिसे देख लोग भी हैरान हैं. जी हां ऐसी ही हैरानी होगी बाहर से आए पर्यटकों को रामनगर के कॉर्बेट पार्क में जब वो वहां महिलाओं को पार्क की सैर कराते देखेंगे।

कॉर्बेट में 50 महिला जिप्सी चालकों की नियुक्ति

जी हां आपको बता दें कि कॉर्बेट नेशनल पार्क में अब जल्द ही महिलाएं देश-विदेश से आए पर्यटकों को सैर कराती नजर आएगी। यहां 50 महिला जिप्सी चालकों की नियुक्ति की गई हैं। यह देश में पहली बार हुआ हैं, जब किसी नेशनल पार्क में जंगल सफारी में महिला जिप्सी चालक तैनात की जा रही हो। इन महिला जिप्सी चालकों को ट्रेनिंग के लिए सोमवार को देहरादून भेजा गया है। पहले फेस में 25 महिला जिप्सी चालको को ट्रेनिंग पर भेजा गया है।इनकी तीन सप्ताह की ट्रेनिंग पूरी होने के बाद 25 और महिला टैक्सी चालकों को ट्रेनिंग दी जायेगी। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद सभी महिला जिप्सी चालक कॉर्बेट नेशनल पार्क में पर्यटकों को सैर पर लेकर निकल पड़ेगी।

महिलाओं को पर्यटन रोज़गार से जोड़ने के लिए विश्व वानिकी दिवस पर तत्कालीन मुख्यमंत्रीव तीरथ सिंह रावत ने कॉर्बेट नेशनल पार्क में महिला जिप्सी चालकों की नियुक्ति की घोषणा की थी।
आपको बता दें कि इससे पूर्व कॉर्बेट नेशनल पार्क में महिला गाइडों की भी भर्ती की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here