इस दिन से बदलने वाले हैं ये नियम, जानें क्यों हैं जरूरी, पढ़ें ये खबर

हर महीने की पहली तारीख को कई तरह बदलाव होते हैं। ये बदलाव सीधेतौर पर हमारी जिंदगी से जुड़े होते हैं। आपकी जेब के साथ ही रोजमर्रा की जिंदगी पर भी असर डालते हैं। गैस सिलेंडर के दाम से लेकर बैंकिंग सेवाओं तक में बदलाव होने वाले हैं।

गैस के दाम
हर महीने की पहली तारीख को गैस की कीमतें तय होती है। गैस के दाम सीधे आम आदमी की रसोई से जुड़े हैं तो लोगों की नजर इस पर सबसे ज्यादा रहती है। हाल के कई महीनों से रसोई गैस की कीमतों में बदलाव नहीं हुआ है ऐसे में एक मार्च 2022 को इसकी कीमत में बदलाव की संभावना जताई जा रही है। देखना दिलचस्प होगा कि एक मार्च को सिलेंडर की कीमतों में इजाफा होता है या इसके दाम स्थिर रहते हैं।

इंडिया पोस्ट वसूलेगा चार्ज
IPPB यानि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ने अपने डिजिटल सेविंग्स अकाउंट के लिए क्लोजर चार्जेज लेना शुरू कर दिया है। अगर आपका इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में बचत खाता है तो आपको इस चार्ज का भुगतान करना होगा। यह चार्ज है 150 रुपये होगा और इस पर जीएसटी अलग से देना होगा। आपको बता दें कि बैक की ओर से ये नया नियम 5 मार्च 2022 से लागू कर दिया जाएगा।

पेंशनर्स के लिए छूट खत्म
पेंशनर्स के लिए 28 फरवरी लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने की अंतिम तारीख है। यानी एम मार्च से ये सरकार की ओर से दी गई ये छूट खत्म हो जाएगी। गौरतलब है कि पेंशन निरंतर पाते रहने के लिए जरूरी है कि पेशनर्स अपना जीवन प्रमाण पत्र समय पर एक मार्च से पहले यानी आज तक हर हाल में जमा करें। बता दें कि आम तौर पर जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की आखिरी तारीख हर साल 30 नवंबर होती है लेकिन सरकारी पेंशनभोगियों को एक बड़ी राहत देते हुए इस साल दो बार तारीख बढ़ाई गई थी। अगर समय सीमा से पहले जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं किया गया तो पेंसन रुक जाएगी। ऐसे में आप घर बैठे भी जीवन प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। इसके लिए आपको डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जनरेट करना होगा।

डिजिटल पेमेंट में दिखेगा बदलाव
RBI ने डिजिटल पेमेंट में बड़े बदलाव की तैयारी कर ली है। प्रॉप्राइटरी क्यूआर कोड का इस्तेमाल करने वाले एक या अधिक इंटरऑपरेबल क्यूआर कोड की ओर स्थानांतरित होंगे। स्थानांतरण की यह प्रक्रिया 31 मार्च, 2022 तक पूरी होनी जरूरी है। इसके साथ ही रिजर्व बैंक ने कहा कि कोई भी पीएसओ किसी भुगतान लेनदेन के लिए कोई नया प्रॉप्राइटरी कोड शुरू नहीं करेगा।

ATM में कैश भरने का नियम
बैंकों के ATM में कैश भरने के लिए नियम मार्च में बदलने जा रहे हैं। गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को एटीएम में कैश भरने के लिए केवल लॉकेबल कैसेट के इस्तेमाल को लागू करने की अंतिम तिथि को बढ़ाकर मार्च 2022 कर दिया था। वर्तमान में, अधिकांश एटीएम (ATM) में नकद धन को ओपन कैश टॉप-अप या स्पॉट पर ही मशीन में कैश डालने के जरिये भरा जाता है। ATM में नकद डालने के मौजूदा सिस्टम को खत्म करने के लिए आरबीआई ने बैंकों को निर्देश दिया है कि ATM  में कैश रिपलेनिशमेंट के समय केवल लॉकेबल कैसेट का ही इस्तेमाल सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here