सिक्कों को बोरों मेंं भरकर स्कूटी खरीदने पहुंचा शख्स, कर्मचारियों के उड़े होश, फिर हुआ ये

छोटी-छोटी खुशियां हासिल करने के लिए इंसान क्या कुछ नहीं करता. दिन रात ध्याड़ी मजदूरी करके एक एक पाई जमा करके कोई बच्चों को पढ़ाता है तो कोई अपने सपनों का घर बनाता है। कोई अपने सपनों को पूरा करने के लिए सिक्के जमा करता है और अपने सपने पूरा करता है। जी हां सही पढ़ा आपने सिक्के जमा करता है। ऐसा ही किया है असम के रहने वाले एक व्यक्ति ने। स्कूटी खरीदने के लिए व्यक्ति ने सिक्कों को जमा किया और पहुंच गया सिक्कों को बोरों में भर कर स्कूटी के शोरुम में.

बोरों में सिक्के लेकर शोरुम पहुंचे शख्स को देख वहां के कर्मचारी हैरान रह गए। वो इससे पहले शख्स से कुछ पूछते शख्स ने खुद कह दिया कि इन बोरों में सिक्के हैं और वह स्कूटी खरीदने आया है. यह सुनकर शोरूम के कर्मचारियों के होश उड़ गए. बोरों में से सिक्कों को निकालने के लिए बड़े-बड़े टोकरे मंगाए गए और फिर सिक्कों को गिना गया. सारे कर्मचारी सिक्कों को गिनने में लग गए।

घंटों की मशक्कत के बाद वो सिक्कों को गिनने में कामयाब हो पाए. जब शख्स से पूछा गया कि उसने इतने सिक्के कैसे इकट्ठा किए तो उसने बताया कि यह उसकी कई महीनों की सेविंग्स थी. उसने कहा कि उसे स्कूटी खरीदनी थी इसलिए उसने 7 से 8 महीने तक पाई-पाई जुटाकर ये सिक्के जमा किए थे. कहानी के मुताबिक, स्कूटी खरीदने वाला शख्स पेशे से एक दुकानदार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here