हड़ताल का लालकुआं में दिखा असर, सुबह 6 बजे हुई बिजली गुल, दफ्तर में जड़ा ताला

लालकुआं : विद्युत विभाग के कर्मचारी की हड़ताल का असर नैनीताल के लालकुआँ में भी देखने को मिला। विद्युत विभाग के अधिकारी-कर्मचारी अफनी 14 सूत्रीय मांगों को लेकर 26 की मध्यरात्रि से हड़ताल पर चले गए। सरकार से वार्ता बेनतीजा रही जिसके बाद कार्मिकों ने पीछे ना हटने का फैसला किया। बता दें कि लालकुआं के पूरे शहर और ग्रामीण इलाकों में सुबह 6 बजे से बिजली ही बिजली गुल है। लोग बिन लाइट के परेशान हैं। सुबह से ही उत्तराखंड के कई इलाकों में बिजली नहीं है जिससे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

बता दें कि लाल कुआं विद्युत उपखंड कार्यालय में विद्युत कर्मचारियों ने ताला जड़ दिया। पुरानी पेंशन व्यवस्था की बहाली, एसीपी, ग्रेड पे संविदा कर्मियों का नियमितीकरण समेत 14 सूत्री मांग को लेकर कर्मचारियों ने 26 जुलाई की मध्यरात्रि से हड़ताल शुरु की जिसका कई इलाकों में असर दिखा। कर्मचारियों की हड़ताल से बिजली की सप्लाई उत्पादन पर असर पड़ साफ नजर आ रहा है। बता दें कि बीते दिन ही सचिव ऊर्जा के साथ ऊर्जा के तीनों निगमों के कार्मिकों के साथ बैठक थी जिसमे कई अधिकारी मौजूद थे लेकिन वार्ता विफल रही और कार्मिकों ने पीछे ना हटने का फैसला लेते हुए मध्यरात्रि कों हड़ताल पर जाने का फैसला किया।

वहीं बता दें कि अगर हालात ऐसे ही रहे तो कर्मचारियों की हड़ताल से आम जनमानस की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। लोगों का गर्मी से बुरा हाल है। उमस में लोग बिन पंखे के बैठे हैं। कई इलाकों में बिजली गुल होने से कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसका क्या हल निकलेगा किसी को अंदाजा नहीं है। और कार्मिकों की ये हड़ताल कब तक चलती है इसका कोई अंदाजा नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here