नवनीत का शव घर पहुंचते ही मचा कोहराम, अंतिम दर्शन नहीं कर पाई पत्नी, काश लौट गया होता ऑस्ट्रेलिया

दिल्ली में कृषि कानून के खिलाफ ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले आईटीओ में रामपुर यूपी निवासी किसान नवनीत की मौत हो गई थी। आरोप लगाया कि पुलिस को गोली ने उसकी मौत हुई है और दावा ये भी किया गया कि ट्रैक्टर से स्टंट करने पर किसान की मौत हुई है। वहीं बीते दिन जब नवनीत का शव घर पहुंचा तो घर में कोहराम मच गया। जानकारी मिली है कि नवनीत घर का इकलौता बेटा था। बुधवार को उसका शव घर पहुंचा तो कोहराम मच गया। आस पड़ोस के लोग सांत्वना देने पहुंचे। दूर-दूर से लोग नवनीत के अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे। किसानों में आक्रोश भी है। वहीं बता दें कि नवनीत की पत्नी अंतिम दर्शन तक नहीं कर पाई।

अचानक लॉकडाउन के कारण वापस नहीं जा पाया था ऑस्ट्रेलिया 

जी हां आपको बता दग्राम डिबडिबा, रामपुर, यूपी निवासी नवरीत सिंह (25) पुत्र साहब सिंह की शादी डेढ़ साल पहले ही भारतीय मूल की मनस्वीट से हुई थी जो की ऑस्ट्रेलिया रहती है। लॉकडाउन से पहले नवनीत घर आया था। शादी के कुछ ही महीने हुए थे कि नवनीत घर आया। अचानक लॉकडाउन के कारण वापस ऑस्ट्रेलिया नहीं जा पाया। डेढ़ साल पहले नवनीत की शादी हुई थई। नवनीत 25 जनवरी को अपना ट्रैक्टर लेकर दिल्ली में किसान रैली में शामिल होने के लिए गया था। गणतंत्र दिवस पर निकल रही ट्रैक्टर रैली में नवरीत का ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर पलट गया था। हादसे में नवरीत की मौके पर ही मौत हो गई थी।

जानकारी मिली है कि नवरीत आस्ट्रेलिया में ट्रक चलाता था। नवनीत की पत्नी इन दिनों ऑस्ट्रेलिया में ही है। वह पति के अंतिम दर्शन नहीं कर पाई। मृतक की इकलौती बहन कनाडा में पढ़ाई कर रही है। परिवार वाले रो रोकर कह रहे हैं कि काश नवनीत ऑस्ट्रेलिया लौट गया होता। आरोप है कि 26 जनवरी को डेढ़ बजे नवरीत इंडिया गेट की तरफ गया था। पुलिस की गोली लगने से वह घायल हुआ, इसके बाद ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर पलट गया। इसके बाद ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर पलट गया। समय रहते उनके पोते को इलाज मिलता तो उसकी जान बच सकती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here