शिक्षक पिता ने खर्चा देने से किया इंकार, बेटे ने उतार दिया मौत के घाट

छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आना और नाराज होकर घातक कदम उठा लेने की घटनाएं आए दिन सामने आती रहती हैं। लेकिन, पिता से नाराज बेटे ने ऐसा खतरनाक कदम उठा लिया, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। बरेली के बहेड़ी में शिक्षक पिता को उसीके बेटे ने मार डाला। बेटे ने पहले पिता को खाना खिलाया और फिर सिर के पीछे गोली मारकर हत्या कर दी।

हत्या के बाद उसने अपनी मां के पास तमंचा छुपा दिया। पुलिस से पूछताछ में वह हत्या की बात छुपाता रहा और जब पुलिस ने उसकी मां को जेल भेजने की बात कही तो वह टूट गया और उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। खर्चे न उठाने से नाराज होकर उसने हत्या की। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

बुधवार को बहेड़ी के महादेव नगर में बिस्तर पर शिक्षक प्रदीप सिंह का शव मिलने से सनसनी मच गई थी। पुलिस को प्रदीप के बेटे गजानन ने बताया था कि उसके पिता खाना खाने के बाद गिर गए थे लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने की बात पुष्ट होने के बाद पुलिस ने गजानन को गुरुवार को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

कड़ाई से पूछताछ में बताया कि उसने ही रात में पिता के सिर के पीछे से गोली मारकर हत्या की थी। इसके बाद वह मां के पास गया और वहां पर तमंचा छिपा दिया। पुलिस इस मामले में जल्द ही शिक्षक की पत्नी को भी गिरफ्तार कर सकती है। पुलिस का मानना है कि उसने हत्या के साक्ष्य छुपाने का अपराध किया है।

शिक्षक पिता ने पत्नी से विवाद के चलते बेटे के खर्चों पर भी रोक लगा दी थी। उसने बेटे की फीस देने के अलावा सारे खर्च उठाने से इनकार कर दिया था। इसके साथ ही पिता ने दुकान से लाए गए सामान की उधारी देने से भी इनकार कर दिया था। इस बात को लेकर बेटे ने मां से फोन पर बात की और बताया कि पिता के कर्म बता रहे हैं कि वह उनके लिए कुछ छोड़कर नहीं जाएंगे।

मूल रूप से मिनतरपुर गांव के रहने वाले प्रदीप सिंह वर्तमान में महादेवपुरम में रह रहे थे। वह बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षक के पद पर तैनात थे। उनकी तैनाती लखमपुर की प्राथमिक विद्यालय में थी। बुधवार को उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने जांच की तो पता चला की बेटे गजानन और प्रदीप परेशान कर रहे थे।

उन्होंने उसकी फीस के अलावा उसके सारे खर्च उठाने से इनकार कर दिया था। गजानन के कहने के बावजूद उसके पिता दुकान से आए राशन की उधारी नहीं चुका रहे थे। वह उसे बार बार मां से खर्चा लेने का ताना मारते थे। इसके चलते उसने पिता की हत्या के लिए तमंचा कुछ दिन पहले ही खरीदा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here