देहरादून के नशा मुक्ति केंद्र में युवक की संदिग्ध मौत, नहीं दी पुलिस को सूचना और फिर..

देहरादून : उत्तराखंड में नशे का कारोबार फलफूल रहा है। नव युवक इसके शिकार हो रहे हैं। वहीं बता दें कि देहरादून के एक नशा मुक्ति केंद्र से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। बता दें कि दून के नशा मुक्ति केंद्र में एक युवक की संदिग्ध मौत हो गई। वहीं केंद्र ने बिना पुलिस को सूचित किए युवक के परिवार वालों को फोन किया और शव को सौंपने के लिए ऋषिकेश रवाना हो गए। बेटे को मृत देख परिवार वालों के होश उड़ गए। तब परिवार वालों ने सारी बात पुलिस को बताई मौके पर पुलिस पहुंची।

आपको बता दें कि मामला ऋषिकेश के शांति नगर गली नंबर 4 का है रजनीश कुमार (30 वर्ष) पुत्र सुरेश सिंह का घर है। नशे की लत के कारण उसे इंजिनियर्स एनक्लेव देहरादून स्थित एक नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया गया था जहां सोमवार को मौत हो गई। मृतक के भाई दीपक ने बताया कि बीती 24 जनवरी को रजनीश कुमार को उस नशा मुक्ति केंद्र में भेजा गया था। बीती रविवार को रजनीश की मां बाला देवी उससे मिलने देहरादून नशा मुक्ति केंद्र में गई थी लेकिन मां को भाई से मिलने नहीं दिया गया। सीसीटीवी कैमरे में रजनीश को दिखाया गया जिसमे वो सामान्य लग रहा था। सोमवार देर रात रजनीश के घर में केंद्र कर्मचारी का फोन आया कि रजनीश की मौत हो गई है। शव को घर लेकर आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here