SSP ने दिखाई दरियादिली, 5000 रुपये का चालान किया माफ, छात्र ने ऐसे मांगी थी मदद

यूपीएससी की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स को फ्री में नोट्स देने और महिला थाना खोलने को लेकर चर्चाओं में रहे इटावा एसएसपी आकाश तोमर एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं। जी हां इस बार मामला चालान से जुड़ा है। जिसमे दरियादिली दिखाते हुए एसएसपी आकाश तोमर ने एक गरीब छात्र का चालान माफ किया वो भी 5000 का। इतना ही नहीं एसएसपी ने ट्विटर पर ये जानकारी छात्र तक पहुंचाई जिसके बाद छात्र ने एसएसपी को धन्यवाद कहा।

आपको बता दें कि इटावा के फर्रुखाबाद मार्ग पर स्थित ग्राम हरिहरपुरा का रहने वाला दीपेंद्र यादव 10 फरवरी की शाम कोचिग से वापस लौट रहे थे। तभी भरथना चौराहा पर थाना फ्रेंड्स कालोनी की पुलिस वाहन चेकिग कर रही थी. दीपेंद्र की बाइक में नंबर प्लेट पर एक नंबर हट गया था जिस पर वहां मौजूद पुलिसजनों ने उसका 5 हजार रुपये का चालान काट दिया. बता दें कि दीपेंद्र एमए प्रथम वर्ष का छात्र है। वहीं छात्र ये चालान भरने की स्थिति में नहीं है इसलिए उसने एसएसपी से गुहार लगाई। ट्विटर के जरिए छात्र ने एसएसपी से चालान माफ करने की गुहार लगाई।

बस फिर क्या था कुछ ही देर में दीपेंद्र की गुहार एसएसपी तक पहुंची। 10 फरवरी की रात दीपेंद्र ने एसएसपी आकाश तोमर को ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा कि सर, एक मदद मांगनी थी. सर, मैं दीपेंद्र यादव आज शाम को अपनी मोटरसाइकिल से पढ़कर आ रहा था, तभी वाहन चेकिंग के दौरान मुझे रोका गया और नंबर प्लेट पर एक नंबर हटने के कारण मुझ पर 5000 रूपए का दण्ड लगाया गया। छात्र ने आगे लिखा कि सर, मैं अपनी गलती स्वीकार करता करता हूं, सर मैं विद्यार्थी हूं इतने पैसे देने में असमर्थ हूं, मेरे घर की स्थिति अच्छी नहीं है. सर कृपया मदद करें. आप बहुत से लोगों की मदद करते हो, ये सुना है और देखा है. जिसके बाद एसएसपी ने मामले की जांच का भरोसा दिया और टीएसआइ रवि तोमर को मामले की जांच दी गई. जांच में दीपेंद्र की बात सही पाए गई।

वहीं शुक्रवार को एसएसपी आकाश तोमर ने छात्र के ट्वीट पर रिट्वीट कर लिखा कि आपका चालान रद्द हो चुका है, शुभकामनाएं”.एसएसपी द्वारा छात्र की गरीबी समझते हुए चालान की राशि माफ करने के मानवीय फैसले को लेकर सोशल मीडिया पर लोग आकाश तोमर की जमकर सराहना कर रहे हैं. छात्र दीपेंद्र ने भी एसएसपी का आभार जताया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here