बदल गए हैं ये नियम, छुट्टी के दिन मिलेगी सैलरी, यह जानना भी जरूरी

नई दिल्ली : देश में नियम बदलते रहते हैं। हर महीने कोई न कोई नियम बदल जाता है। अगस्त महीने में भी कुछ नियम बदले हैं। जो लागू हो चुके हैं। इन नियमों का सीधा संबंध आपकी और हमारी जिंदगी से होता है। खासतौर पर ये नियम बैंकिंग, इंश्योरेंस जुड़े होते हैं। अगस्त महीने में ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस के नियमों में बदलाव, बैंकों से पैसे निकालने के नियमों में बदलाव होते हैं। इस बार ICICI बैंक के ग्राहकों के लिए भी कई तरह के नियम बदले गए हैं।

रिजर्व बैंक (RBI) ने बल्क पेमेंट सिस्टम नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH) में बदलाव किया है। ये सिस्टम सप्ताह में हर दिन कार्य करेगा। इसका मतलब यह है कि यह सिस्टम रविवार और छुट्टी के दिन भी काम करेगी। इस बदलाव के बाद अब अगर किसी भी महीने की पहली तारीख या कंपनियों द्वारा सैलरी दिए जाने के लिए निर्धारित तारीख को अगर रविवार पड़ता है या किसी और तरह की छुट्टी मिलती है तो भी आपके अकाउंट में उसी दिन सैलरी क्रेडिट होगी। इससे पहले तक अगर सैलरी क्रेडिट होने की तारीख पर बैंकों में छुट्टी होती थी तो सैलरी एक दिन बाद आपके अकाउंट में क्रेडिट होती थी।

RBI ने कॉमर्शियल बैंकों को 1 अगस्त से वित्तीय लेनदेन के लिए प्रति लेनदेन इंटरचेंज शुल्क 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये और सभी केंद्रों में गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये करने की मंजूरी दे दी है। RBI ने बैंकों को अगले साल से नकद और गैर-नकद ATM लेनदेन के लिए मुफ्त मासिक सीमा से अधिक शुल्क बढ़ाने की भी अनुमति दी है। इसके अतिरिक्त रिजर्व बैंक ने यह भी कहा है कि मुफ्त लेनदेन की मासिक सीमा से अधिक होने पर बैंक ग्राहकों को 1 जनवरी, 2022 से 20 रुपये के बजाय प्रति लेनदेन 21 रुपये का भुगतान करना होगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) ने अपनी कुछ बैंकिंग शुल्कों में बदलाव का एलान किया है। IPPB ने डोरस्टेप बैंकिंग और अन्य शुल्कों में बदलाव किए हैं। इन बदलावों के तहत अब तक निशुल्क रही डोरस्टेप डिलिवरी सर्विस पर शुल्क देय होगा। ग्राहकों को बैंकों द्वारा दी जाने वाली डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस के लिए 20 रुपये और जीएसटी देना होगा। डोरस्टेप पर कैश की निकासी या डिपॉजिट सर्विस के लिए आपको प्रति ट्रांजैक्शन 20 रुपये के साथ ही GST का भुगतान करना होगा।

ICICI बैंक की वेबसाइट के मुताबिक रेगुलर सेविंग अकाउंट से जुड़े विभिन्न शुल्कों में संशोधन किया गया है। ये संशोधन एक अगस्त से प्रभावी हो गए हैं। प्राइवेट सेक्टर के लीडिंग बैंक ने कैश ट्रांजैक्शन की लिमिट, ATM इंटरचेंज चार्जेज और चेक बुक चार्जेज में बदलाव किए हैं। बैंक द्वारा विभिन्न शुल्कों में किए गए बदलाव को ICICI Bank की ऑफिशियल वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here