रुड़की : मुस्लिम समाज ने दिया पुलिस का साथ, ईद की नमाज अदायगी को लेकर लिया ये फैसला

रुड़की के कस्बा लंढौरा के मदरसा इमदादुल इस्लाम में सीओ मंगलौर पंकज गैरोला ने ईद के त्यौहार को लेकर मुस्लिम समाज के लोगों की बैठक ली। बैठक में सीओ पंकज गैरोला ने कहा कि उत्तराखंड पुलिस ने कोविड-19 रोगियों के लिए ऑक्सीजन, बेड और प्लाज्मा प्राप्त करने में लोगों की मदद करने के लिए मिशन हौसला नामक एक कैंपेन शुरू किया है जिसके तहत पुलिस जनता को राशन,आक्सीजन सिलेंडर,एम्बुलेंस, शव का अंतिम संस्कार कराने में भी मदद कर रही है।

उन्होंने कहा कि समाज में कई लोग हैं जो मदद करना चाहते हैं और ऐसे कई लोग हैं जिन्हें मदद की जरूरत है। ऐसे में पुलिस इन दोनों को मिलाने के लिए एक नोडल एजेंसी के रूप में काम कर रही है। उन्होंने मुस्लिम समाज से अपील करते हुए कहा कि कर्फ्यू के कारण लोगों की आवाजाही संभव नहीं है। उन्होंने सरकार की गाईडलाईन को ध्यान में रखते हुए ईद की नमाज अदा करने की बात कही है।

साथ ही बैठक में जमीअत उलेमा ए हिंद के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मुफ्ती रियासत अली ने कहा कि कोरोना संक्रमण जानलेवा बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे आदमियों में फैलती है। सरकार और प्रशासन ने देश के लोगों की हिफाजत की वजह से ही लॉकडाउन का निर्णय ले रखा है जिसका पालन करना हर देशवासी का फर्ज है। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी कई बार देश और दुनिया में इस तरह की महामारी फैल चुकी है। महामारी की चपेट में आकर काफी संख्या में लोगों की जान जा चुकी है। मुफ्ती ने कहा कि इस तरह की महामारी से बचने के लिए रमजान उल मुबारक के पाक महीने मे लोगों को शोसल डिस्टेंसिंग, साफ सफाई और मास्क का इस्तेमाल बेहद जरूरी है। उन्होंने पिछले साल की तरह इस साल भी ईदगाह पर ईद की नमाज मे पांच लोगों के ही शामिल होने की बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here