देहरादून ब्रेकिंग : सहसपुर में सर्राफा व्यापारी की शॉप से हुई लूट का खुलासा, बिजनौर से 3 गिरफ्तार, ऐसे पहुंचे लुटेरों तक

देहरादून : देहरादून के सेलाकुई और सहसपुर पुलिस ने सेलाकुई क्षेत्रांन्तर्गत सर्राफा व्यापारी से लूट हुई लूट का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने बिजनौर के तीन शातिर आरोपियों को गिरफ्तार किया और लूटी गई ज्वेलरी, नगदी और घटना में प्रयुक्त तमंचा और दो जिन्दा कारतूस 12 बोर भी बरामद किया है।

आपको बता दें कि 18 फरवरी की रात 8:34 बजे के आसपास थाना सेलाकुई बाजार में एक सर्राफा व्यापारी की दुकान पर अज्ञात बदमाश तमंचे के बल पर लूट को अंजाम दे गए थे। पुलिस ने छानबीन कर आरोपियों को बिजनौर से गिरफ्तार किया है। पीड़ित मुस्तकीम पुत्र अब्दुल वहीद निवासी वेलकम ज्वेलर्स मेन रोड निकट रहमानी डाक्टर सेलाकुई ने पुलिस को तहरीर दी थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी थी। एसएसपी के निर्देश पर टीम गठित की गई थी। पुलिस ने सीसीटीवी खंगाले। मुकबिर तंत्रों को सक्रिय किया।

पुलिस को जानकारी मिली कि 17 फरवरी को 3 व्यक्ति बिजनौर से आये थे और उनके द्वारा बहादरपु रोड पर एक मकान मे किराये का कमरा लिया था और उन्होंने 18 फरवरी की रात सेलाकुई बाजार में एक ज्वैलरी की दुकान मे लूट की घटना को अंजाम दिया था। उन्होंने लूटी गयी ज्वैलरी धूलकोट जंगल मे छुपाई हैय़ उसको लेने के लिए वह धूलकोट जंगल आने वाले हैं। 24 फरवरी की शाम गठित की गई संयुक्त टीमों ने तीनों आरोपियों की पहचान मिथुन उर्फ बादल, जौनी कुमार, एवं रंजीत उर्फ प्रधान के रुप में की और बाइक को ट्रेस किया। बाइक का नंबर (UP20BM-2219) था। पुलिस ने ज्वैलरी के साथ नगदी और तमंचा बरामद किया। एसएसपी ने टीम को 5000 इनाम देने की घोषणा की गई।

पूछताछ में खुलासा

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि मिथुन उर्फ बादल पूर्व में सिडकुल सेलाकुई में आईजीएल कंपनी में नौकरी करता था जो 2 महीने पहले अपने गांव बिजनौर चला गया था, वो ही इसका मास्टर माइंड है। उसको सेलाकुई क्षेत्र की पूरी जानकारी थी। अभियुक्त मिथुन उर्फ बादल द्वारा अपने दो अन्य साथियों जौनी कुमार और रंजीत उर्फ प्रधान के साथ मिलकर बिजनौर में एकत्रित होकर एक सुनियोजित ढंग से सेलाकुई क्षेत्र में लूट करने की योजना बनाई जिसमें अभियुक्त मिथुन उर्फ बादल द्वारा घटना करने के लिए तमंचा व कारतूस की व्यवस्था की। तीनों आरोपी 17 फऱवरी को बिजनौर से अभियुक्त रंजीत उर्फ प्रधान की बाइक (UP20BM-2219) से सेलाकुई आए। इन्होंने एक मकान में कमरा किराए पर लिया था। रात में सेलाकुई बाजार में कई दुकानों की रेकी की गई। 18 फरवरी को आरोपियों ने लगातार सेलाकुई बाजार में सर्राफा ज्वेलर्स की दुकानों की रेकी की। कहा कि हम उन स्थानों को टारगेट करते थे जहां पर की सीसीटीवी कैमरा न लगा हो इसलिए आरोपियों ने सभी सराफा दुकानों की बारीकी से रेकी की।

आरोपियों को वादी मुकदमा श्री मुस्तकीम की दुकान वेलकम ज्वेलर्स मेन रोड सेलाकुई दिखाई दी, जिसमे कि सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे थे. आरोपियों ने घटना करने से पूर्व एक बार ज्वेलर्स की दुकान के बाहर जाकर इत्मिनान से रैकी की। बताया कि मिथुन उर्फ बादल और जॉनी ने अपने सह अभियुक्त रंजीत को घटना करने से पहले उसकी बाइक को अपने पास लेकर रंजीत को सेलाकुई से रोडवेज की बस में बैठाकर देहरादून आईएसबीटी भेजा गया और रात के समय बाजार से भीड़-भाड़ छठ जाने के बाद वेलकम ज्वेलर्स की दुकान में जाकर तमंचे के बल पर सर्राफा व्यापारी को लूटा।

पुलिस की चेकिंग को देख भाग गए थे आरोपी

लूट के बाद आरोपी नयागांव, झाझरा की ओर गए तो आरोपी को पुलिस उक्त बैरियरों पर चेकिंग करती हुई मिली जिस पर आरोपियों ने पुलिस से बचने के लिए अपनी बाइक को वापस मोड कर धूलकोट के जंगल में सुनसान स्थान पर आ गए। आरोपियों ने सराफा ज्वैलर से लूट की घटना में लूटी गई ज्वेलरी को धूलकोट के जंगल में झाडियों मे छुपा दिया और सीधे रोडवेज बस से बिजनौर चले गए जहां पर अभियुक्त रंजीत भी इनको मिल गया।

लूटी हुई रकम लेने वापस आ रहे थे आरोपी

24 फरवरी को मौका पाकर तीनों आरोपी बाइक से सवार होकर 18 फरवरी को वेलकम ज्वेलर्स से लूटी गई ज्वेलरी को लेने धूलकोट के जंगल जा रहे थे लेकिन इससे पहले पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। जानकारी मिली है कि बादल इस योजना का सरगना है और आरोपी जॉनी 12 वीं कक्षा तक पढा है और बिजनौर में किराना की दुकान मे काम करता है। आरोपी रंजीत 9 वीं कक्षा तक पढा है और खेती बाड़ी का काम करता है। बहादरपुर रोड मे जिस मकान मे अभि0गण द्वारा कमरा किराये पर लिया गया था उक्त मकान मालिक के विरुद्द अपने किरायेदार का सत्यापन्न न कराने के सम्बन्ध मे अलग से पुलिस अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही की जा रही है।

बरामदगी माल का विवरण
01-एक नथनी एवं 71 लॉन्ग नोज पिन पीली धातु कुल 4 तोला, 02- सफेद धातु 10 जोडी पायल, 03-गले की चेन सफेद धातु 10, 04-मंगलसूत्र के 13 पेंडल सफेद धातु, 05-हाथ के ब्रेसलेट 5 जोड़ी सफेद धातु, 06-तगड़ी सफेद धातु 2 जछडी, 07-पैरों के छल्ले 10 जोड़ी सफेद धातु, 08- बिछुवे सफेद धातु 6 जोडी, 09-अंगूठी स्त्री और पुरुष सफेद धातु कुल 271, 10- एक व तमंचा 12 बोर व दो जिंदा कारतूस, 11- एक मोटरसाइकिल घटना में प्रयुक्त नंबर UP20-BM- 2219 सुपर स्प्लेंडर, 12- घटना में लूटे गए 3800  नगद (कुल बरामदगी 5,50,000/- पाच लाख पचास हजार)

पर्यवेक्षण अधिकारी
पुलिस अधीक्षक ग्रामीण महोदया
क्षेत्राधिकारी प्रेमनगर महोदय
पुलिस टीम थाना सेलाकुई
1-S.O मनमोहन सिंह नेगी, 2-उप निरीक्षक दिनेश चमोली, 3- उप निरीक्षक कुलदीप सिंह 4-उप निरीक्षक अनित कुमार 5-उ0नि0 सुरेन्द्र राणा, 5-आरक्षी त्रेपन सिंह, आरक्षी बृजपाल सिंह, आरक्षी बृजेश रावत, आरक्षी निर्भय नारायण, आरक्षी मौ0 अनीश, कां0 मुकेश भट्ट
पुलिस टीम थाना सहसपुर
01-S.O विनोद सिंह राणा, 02-आरक्षी इकबाल मलिक
पुलिस टीम थाना प्रेमनगर
01- व.उ.नि. कोमल सिंह, 02-आरक्षी नरेन्दर सिंह
एसओजी ग्रामीण टीम
1. Si ओम कांत भूषण ,(प्रभारी एसओजी ग्रामीण)
2. आरक्षी नवनीत सिंह नेगी, आरक्षी कमल जोशी, आरक्षी जितेंद्र सिंह, आरक्षी सोनी, आरक्षी मनोज कुमार, आरक्षी नवीन, आरक्षी रविंद्र टम्टा (कोतवाली डोईवाला)

नाम व पता अभियुक्तगण-
1-मिथुन उर्फ बादल पुत्र ब्रह्मपाल निवासी ग्राम काजीवाला मोहल्ला रमेश की दुकान के पास थाना मंडावर जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश, उम्र 20 वर्ष
2-जौनी कुमार पुत्र राजपाल निवासी ग्राम नाईपुरा मोहल्ला बीरौपुर फैक्ट्री के पास गंधौर थाना चांदपुर जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश, उम्र 19 वर्ष
3-रंजीत उर्फ प्रधान पुत्र धर्मपाल निवासी ग्राम बीरौपुर मोहल्ला चौराहा बगिया थाना चांदपुर जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश उम्र, 19 वर्ष

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here