उत्तरकाशी में घनी बारिश में सड़क पर कोलतार बिछाने वाली इंजीनियरिंग देखी आपने?

घनी बारिश में कभी आपने सड़क पर बिटुमिन की लेयर बिछाकर सड़क की डेंटिंग पेंटिंग करते हुए देखा है? नहीं देखा है तो हम आपको दिखाते हैं। रोड इंजीनियरिंग का ये कारनामा उत्तरकाशी से सामने आया है। यहां सड़क बनाने वाले घनी बारिश में गीली सड़क पर ही बिटुमिन की लेअर बिछाकर उसे चमकाने में जुटे हैं। ये सड़क जोशियाड़ा से मौजूदा वक्त में देहरादून को जोड़ रही है। मुख्यमार्ग के कम प्रयोग में होने के चलते इस रोड का उपयोग अधिक हो रहा है। हैरानी इस बात की है कि सामान्य तौर पर गीली सड़क पर बारिश के बीच इस तरह से बिटुमिन की लेअर कभी भी स्थायी नहीं होती है और जल्द ही उखड़ने लगती है। सामान्य तौर पर भी रोड इंजीनियरिंग को समझने वाले ऐसे प्रयोग करने से बचते हैं लेकिन उत्तरकाशी में सड़क बनाने में ये नया ही प्रयोग हो रहा है।

हमने जब इस संबंध में एक सिविल इंजीनियर से बात की तो वो हंसने लगे। उन्होंने कहा कि, ऐसे सड़क निर्माण से बेहतर है कि सड़क न बनाते। इतनी बारिश में सड़क बनाने से सड़क की उम्र पहले ही दिन से कम हो जाती।

वहीं कुछ स्थानीय लोगों की माने तो मौजूदा मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के उत्तरकाशी से उपचुनाव लड़ने की चर्चाएं हैं। ऐसे में यहां राजनीति सरगर्मियां तेज हैं। ऐसे में आनन फानन में सड़कों को चमकाया जा रहा है। अब जब सूबे के मुखिया के सामने सड़कों का चेहरा चमकाने की चुनौती हो तो न जनता के पैसों का कोई ख्याल न बारिश का।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here