ऋषिकेश पुलिस ने निभाया पुत्र धर्म, सम्मान के साथ किया कोरोना संक्रमित बुजुर्ग का अंतिम संस्कार

ऋषिकेश : एक और जहां उत्तराखंड में पुलिस कर्फ्यू का पालन न करने वालों पर सफाई कर रही है और चालान की कार्रवाई कर रही है तो इसी के साथ दूसरी तरफ पुलिस “मिशन हौसला” के तहत कई कोरोना संक्रमित बुजुर्गों असहाय लोगों की मदद के लिए भी हाथ बढ़ा रही है। बात करेंं ऋषिकेश पुलिस की तो ऋषिकेश और श्यामपुर पुलिस ने आज पुत्र का धर्म निभाया है। जी हां बता दें कि अकेले निवासरत 75 वर्षीय करोना पीड़ित महिला की मौत होने पर, ऋषिकेश पुलिस द्वारा पुत्र धर्म निभाकर, निजी खर्च से सम्मान सहित अंतिम संस्कार किया गया।

बता दें कि अकेले निवासरत बुजुर्ग एवं पीडि़त व्यक्तियों की सहायता के लिए कोतवाली ऋषिकेश पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 9897244109 जारी किया है। पुलिस द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर कल शाम कॉलर मोहन सिंह निवासी प्रेम विहार कॉलोनी श्यामपुर ऋषिकेश के द्वारा कल सूचना दी गई थी कि उनकी पत्नी बबीता रावत पिछले कुछ समय से करोना पॉजिटिव चल रही थी। जिनकी तबीयत अधिक खराब होने के कारण उनका स्वर्गवास हो गया है। अकेला बुजुर्ग एवं आर्थिक स्थिति सही ना होने के कारण मैं उसका अंतिम संस्कार करने में असमर्थ हूं। इस सूचना पर प्रभारी निरीक्षक  रितेश शाह ने चौकी प्रभारी श्यामपुर को तत्काल निजी खर्चे से संपूर्ण व्यवस्था कर उपरोक्त महिला का सम्मान सहित अंतिम संस्कार करने हके लिए कहा। जिस पर चौकी प्रभारी श्यामपुर के द्वारा मय हमराह कर्मचारियों की सहायता से खुद पी.पी.ई. किट पहनकर पुत्र धर्म निभाते हुए सम्मान सहित मृतक महिला का अंतिम संस्कार कराया गया।

पुलिस द्वारा पुत्र धर्म निभाते हुए सम्मान सहित अंतिम संस्कार किए जाने पर बुजुर्ग के आस-पड़ोस के व्यक्ति द्वारा पुलिस द्वारा किए गए कार्य की सराहना की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here