उत्तराखंड RTI में खुलासा : इस जिले में विधायकों ने की 77% विधायक निधि खर्च, 38 कार्य शुरु ही नहीं हुए

नैनीताल : वर्तमान विधायकी समाप्त होने वाले अंतिम साल 2021-22 मेें नैनीताल जिले के 6 विधायकों की चुनाव घोषणा होने से पूर्व 31 दिसम्बर 2021 तक 77% विधायक निधि खर्च हुई तथा 524 लाख 47 हजार की धनराशि शेष है जबकि प्रदेश के विधायकों की 68% ही खर्च हुई। विधायकों में कुल 1301 कार्य स्वीकृत हुये, इसमें से दिसम्बर तक 996 कार्य ही पूरे हो सके जबकि 38 कार्य तो शुरू भी नहीं हुये।

काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन (एडवोकेट) ने उत्तराखंड के ग्राम्य विकास आयुक्त कार्यालय से विधायक निधि खर्च सम्बन्धी विवरणों की सूचना मांगी थी। इसके उत्तर में उपायुक्त (प्रशासन) हरगोविन्द भट्ट ने अपने पत्रांक 2830 के साथ वर्तमान विधायकों की विधायक निधि विवरण की फोटो प्रति उपलब्ध करायी है।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार वर्ष 2021-22 में नैनीताल जिले के सभी 6 विधायकों को 375 लाख प्रति विधायक कुल 2250 लाख की विधायक निधि उपलब्ध हुई है। इसमें से 31 दिसम्बर 2021 तक 1725.53 लाख की विधायक निधि खर्च हुई हैै और 524.47 लाख की विधायक निधि खर्च होने का शेष है। विधायकों द्वारा जिले में कुल 1301 कार्य स्वीकृत किये गये है. इसमें से केवल 996 कार्य ही पूर्ण हो सके जबकि 38 कार्य शुरू नहीं हुए हैं और 267 कार्य चल रहे हैं। इन कार्यों में अनुसूचित जाति के लिये कुल 18.52% 241 और अनुसूचित जन जाति के कोई अनुसूचित जनजाति के कार्य नहीं हुये हैं।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार सर्वाधिक विधायक निधि 88% लालकुआं विधायक नवीन चन्द्र और जबकि जिले में सबसे कम 44% हल्द्वानी विधायक इंदिरा ह्रदेयश की खर्च हुई हैै। अन्य विधायकों में रामसिंह कैडा की 83, संजीव आर्य की 81, बंशीधर भगत की 81 और दीवान सिंह बिष्ट की 83 प्रतिशत विधायक निधि खर्च हुई है।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार सर्वाधिक 508 कार्य भीमताल विधायक रामसिंह कैड़ा और सबसे कम 62 कार्य हल्द्वानी विधायक इंदिरा ह्रदेयश द्वारा स्वीकृत किये गये हैं। अन्य विधायकों में लालकुआं विधायक नवीन चन्द्र द्वारा 307, नैनीताल विधायक संजीव आर्य द्वारा 195, कालाढूंगी विधायक कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत द्वारा 106 और रामनगर विधायक दीवान सिंह बिष्ट द्वारा 123 कार्य स्वीकृत किये गये हैं।

स्वीकृत कार्यों में 38 कार्य प्रारंभ नहीं हुये इनमें सर्वाधिक 17 कार्य लालकुआ विध्नवीन चन्द्र तथा सबसे कम 2 कार्य नैैनीताल विधायक संजीव आर्य के है। इसके अतिरिक्त अन्य विधायकों के कार्यों में रामसिंह कैडा के 7, श्रीमति इंदिरा ह्रदेयश के तथा बंशीधर भगत के 6-6 कार्य 31 दिसम्बर 21 तक प्रारंभ नहीं हो सके है। दीवान सिंह बिष्ट का ऐसा कोई कार्य नहीं हैै।

अनुसूचित जाति कल्याण का तो सभी विधायक दावा करते हैै लेकिन जिले में कुल स्वीकृत 241 अनुसूचित जाति के कार्यों में सर्वाधिक 95 भीमताल विधायक ने तथा सबसे कम 10 हल्द्वानी विधायक ने किये है। जबकि अन्य विधायकों में 58 लालकुआ, 37 नैनीताल, 10 हल्द्वानी, 18 कालाढूंगी तथा 23 रामनगर विधायक द्वारा स्वीकृत कराये गये है।
अनुसूचित जनजाति के नैैनीताल जिले में किसी भी विधायक द्वारा कोई कार्य स्वीकृत नहीं कराये गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here