गजब। 500 किलो गांजा खा गए चूहे, पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में बताया

ratsक्या आप यकीन करेंगे कि चूहे पुलिस द्वारा जब्त किया गया 500 किलो गांजा खा गए? हो सकता है मुश्किल से यकीन हो लेकिन पुलिस यही कह रही है।

मामला यूपी के मथुरा का है। यहां एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें 500 किलो गांजा चूहों के जरिए चट करने का दावा किया जा रहा है। मथुरा पुलिस ने इसको लेकर नारकोटिक्स ड्रग एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटेंस एक्ट (1985) के तहत स्थापित अदालत को एक रिपोर्ट सौंपी है। आइए जानते हैं कि पुलिस ने अपने दावे के समर्थन में क्या बातें कही हैं?

581 KG जब्त हुआ था गांजा

दरअसल पुलिस ने दो मामलों में कुल 581 किलो गांजा जब्त किया था। ये कार्रवाई शेरगढ़ और हाईवे थाना पुलिस ने की थी। जिसको रिपोर्ट में नॉर्कोटिक्स ब्यूरो को ये कहा गया कि चूहे लगने की वजह से सारा गांजा नष्ट हो गया। इसको लेकर नार्कोटिक्स की विशेष अदालत में मथुरा पुलिस ने दावा किया है।

जब्त हुए गांजे के नष्ट होने को लेकर पुलिस अभियोजक ने अदालत को बताया कि थाने में चूहों से सुरक्षित कोई भंडारण स्थान नहीं है। जिसके वजह से उसमें चूहे लग जाते हैं। जब किया गया 581 किलो गांजा का लगभग पूरा हिस्सा चूहों ने नष्ट कर दिया। बाद में बचे हुए हिस्से को पुलिस अधिकारियों ने नष्ट करवा दिया।

एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज मामले में 586 किलोग्राम गांजा बरामद किया गया था। जब अदालत ने पुलिस को इसे पेश करने के लिए कहा कि 500 किलो से अधिक मरिजुआन यानी गांजा चूहे खा गए। मथुरा पुलिस ने एक विशेष नारकोटिक ड्रग एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट (1985) अदालत को एक रिपोर्ट सौंपी है। जिसमें पुलिस ने कहा है कि चूहों ने जब्त किए गए 500 किलोग्राम से अधिक मारिजुआना खा लिया। एक रिपोर्ट के मुताबिक शेरगढ़ और हाईवे पुलिस स्टेशन के गोदामों में जब्त किए गए मादक पदार्थ रखे गए थे।

रिपोर्ट में कहा गया कि चूहों का आकार छोटा होता है। पुलिस अभियोजक ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि ऐसे में उन्हें पुलिस का कोई डर नहीं होता। वे लंबे समय तक मादक पदार्थ के पैकेट्स को काटकर खाते रहते हैं। जिससे भारी नुकसान होता है।

पुलिस द्वारा जब्त किया गया गांजा नष्ट होने के मामले में कोर्ट सबूत मांगा है। इसके साथ ही कोर्ट ने चूहों को नष्ट करने का आदेश दिया है। इस संबंध में रिपोर्ट पेश करने के लिए पुलिस टीम 26 नवंबर तक का समय दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here