गुरुजी जी की मार्कशीट पर सवाल, अभिलेखों में दर्ज जीरो नंबर, फिर भी कर रहें हैं नौकरी

 

उत्तराखंड में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी करने वाले अध्यापकों की जांच में रोजाना नए खुलासे हो रहें हैं। अब अल्मोड़ा में राजकीय प्राथमिक स्कूल बल्शा, हवालबाग के प्रधानाध्यापक पुष्कर कुमार की इंटरमीडियट की अंकतालिका सवालों के घेरे में आ गई है। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने इस संबंध में नोटिस जारी कर दिया है और प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांग लिया है।

दरअसल पुष्कर कुमार के अंकपत्र जांच के लिए यूपी भेजे गए थे। वहां से मिले जवाब के अनुसार पुष्कर कुमार का रिजल्ट रद्द बताया गया। इसके बाद उनके इंटरमीडिएट के अंकपत्र और प्रमाणपत्र सत्यापन के लिए सीआरएसटी इंटर कालेज नैनीताल के प्रधानाचार्य को भेजे गए थे। स्कूल के प्रधानाचार्य ने बताया कि पुष्कर लाल के इंटर के अंकपत्र और प्रमाण पत्र मिलान किए गए, जिनका स्कूल के अभिलेखों से मिलान नहीं हो रहा है। प्रधानाचार्य ने परीक्षाफल की क्रास लिस्ट भी भेजी है, जिसमें परीक्षाफल अपूर्ण अंकित किया गया है।

इसके बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी ने पुष्कर कुमार को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया। इस दौरान पुष्कर कुमार ने जो मार्कशीट दिखाई है उसमें और अभिलेखों में दर्ज मार्कशीट में चढ़ाए गए नंबरों में फर्क है। पुष्कर कुमार के अनुसार उन्हे इंटर में हिंदी में 55, अंग्रेजी में 42, भौतिक विज्ञान में 47, रसायन विज्ञान में 52, जीव विज्ञान में 52 अंक अंकित है, जबकि सीआरएसटी इंटर कालेज नैनीताल द्वारा भेजे गए क्रास लिस्ट में उनके हिंदी में 55, अंग्रेजी में 40, भौतिक विज्ञान में 43, रसायन में शून्य और जीव विज्ञान में 43 अंक मिले हैं। ऐसे में अभिलेखों के मुताबिक वो इंटर में फेल हैं।

अंकपत्र पर सवाल उठने के बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी ने पुष्कर कुमार को स्पष्टीकरण के लिए एक हफ्ते का समय दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here