पाकिस्तानी एजेंट गिरफ्तार, बड़ा सवाल- पुलिस की नजर से बचकर आखिर कैसे हुआ फरार?

रुड़की पुलिस और खुफिया विभाग में उस वक्त हड़कंप मच गया जब पूर्व में पाकिस्तानी एजेंट के रूप में पकड़ा गया आरोपी फरार हो गया। उसकी तलाश में पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की। लेकिन आरोपी मौके पर नहीं मिला। पाकिस्तानी नागरिक के अचानक लापता होने की सूचना से रुड़की से लेकर देहरादून तक हड़कंप मच गया। आबिद की तलाश के लिए पुलिस अधिकारियों ने पुलिस और खुफिया विभाग की पूरी फौज उतार दी। हरिद्वार से भी एलआईयू की टीम ने रुड़की में डेरा डाल दिया। रात करीब नौ बजे उसके पकड़ने जाने पर पुलिस ने राहत की सांस ली।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रुड़की के बीएसएम तिराहे से एसटीएफ देहरादून की टीम और पुलिस ने 2010 में आबिद नाम के युवक को पाकिस्तानी एजेंट बताते हुए गिरफ्तार किया गया था। पुलिस द्वारा आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। कुछ समय बाद वह जमानत पर जेल से बाहर आ गया था।पासपोर्ट अधिनियम का मामला नैनीताल हाईकोर्ट में चल रहा था।बुधवार को निर्णय आना था। पुलिस और खुफिया विभाग उसकी निगरानी कर रहे थे, लेकिन सुबह करीब दस बजे वह गैस सिलिंडर खत्म होने का बहाना बनाकर घर से फरार हो गया। काफी देर तक उसके नहीं लौटने पर एलआईयू समेत पांच पुलिसकर्मियों ने तलाश की, लेकिन पता नहीं चल पाया। उन्होंने सूचना अधिकारियों को दी। जासूसी के आरोपी पाकिस्तानी नागरिक के लापता होने की सूचना से हड़कंप मच गया।

आनन फानन पुलिस अधिकारी उसके घर पहुंचे और पत्नी से जानकारी ली। साथ ही आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले। इस बीच आबिद एक कैमरे में भागता नजर आया। रात करीब नौ बजे पुलिस ने घर के पास ही किसी के मकान से उसे पकड़ लिया। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने बताया कि आबिद को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

वहीं बता दें कि बड़ा  सवाल पुलिस की सुरक्षा और निगरानी पर खड़े हो रहे हैं। सवाल ये है कि अगर आबिद पर पुलिस और एलआईयू की नजर थी तो वो कैसे लापता हो गया है। क्या आबिद ने पहले से ही योजना बना रखी थी कि हाईकोर्ट के फैसला आने से पहले कैसे यहां से भागना है लेकिन बड़ा सवाल पुलिस की सुरक्षापर हो रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार युवक का ससुराल रुड़की कोतवाली क्षेत्र के मच्छी मोहल्ला में है और वह भी अपने परिवार के साथ यहीं निवास करता है। लेकिन अब एक बार फिर पुलिस और खुफिया विभाग की टीम ने मच्छी मोहल्ला स्थित उसके आवास पर उसकी तलाश में छापेमारी की। लेकिन वह मौके पर नहीं मिला। वहीं उसे सीसीटीवी में देखा गया और काफी तलाश के बाद रात करीब नौ बजे पुलिस ने घर के पास ही किसी के मकान से उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here