उत्तराखंड: धान खरीद का नहीं हुआ भुगतान, सरकार पर किसानों का 1 अरब 77 लाख बकाया


ऊधमसिंह नगर: कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. गणेश उपाध्याय ने भाजपा सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि उत्तराखंड खाद्य विभाग की ओर से लगभग 3.5 लाख कुंटल धान की खरीद की गई। सहकारिता विभाग ने भी लगभग 10 लाख कुंतल खरीद की। नाफेड 2 लाख कुंतल, एनसीसीएफ ने 25 हजार कुंतल और यूपीसीयू की ओर से 35 हजार कुंतल धान की खरीद की गई।

लेकिन, भुगतान केवल खाद्य विभाग ने ही किया है। अन्य किसी ने भी अब तक किसानों को भुगतान नहीं किया है। उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तराखण्ड में विभागों के साथ भेदभाव करते हुए सरकार द्वारा सिर्फ खाद्य विभाग के धान खरीद का ही भुगतान कराया गया। जबकि सभी धान खरीद एजेंसियों की ओर से भुगतान होना चाहिए था।

उन्होंने कहा कि त्योहारी सीजन में दीवाली, भैया दूज, छठ पूजा, ईगास त्यौहारों में किसान के हाथ में बच्चों के लिए मिठाई नहीं बल्कि आंखों में आंसू थे। अभी भी सरकार भुगतान के लिए कोई आवश्यक कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। वर्तमान में सरकार की अन्य धान खरीद एजेंसियों पर 1 अरब 77 करोड़ का भुगतान बकाया है।

आरोप लगाया कि यह सरकार पूरी तरह किसान विरोधी है। माननीय उच्च न्यायालय में सरकार द्वारा हलफनामा पेश करते हुए 1 हफ्ते के भीतर भुगतान की बात की गई थी। जबकि आज पूरा महीना समाप्त होने को है। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही भुगतान नहीं किया गया तो वह हाईकोर्ट में सरकार के खिलाफ अवमानना याचिका दायर करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here