उत्तराखंड : अब ऐसे हुई एक लाख की ठगी, कब थमेगा सिलसिला

देहरादून: ठगी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रही है। एक के बाद एक ठगी के अलग-अलग मामले सामने आ रहे हैं। हर बार नया तरीका होता है। इस बार पार्सल भेजने और ऑनलाइन टाइल्स मंगवाने के नाम पर साइबर ठगी हुई है। साइबर ठगों ने दो व्यक्तियों को एक लाख 78 हजार रुपये की चपत लगा दी। पुलिस ने दोनों मामलों में मुकदमे दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार शालिनी एन्क्लेव, बद्रीपुर जोगीवाला निवासी पद्म कुमार वर्मा ने बताया कि 26 फरवरी को उन्हें अपने बेटी को एक पार्सल भेजना था। इसके लिए उन्होंने गूगल पर कोरियर कंपनी का नंबर ढूंढा और उस पर फोन किया। अज्ञात व्यक्ति ने खुद को कोरियर कंपनी का कर्मचारी बताया और कहा कि कोरियर भेजने के लिए पहले पांच रुपये का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। उसने एक लिंक भेजा और फार्म भरने को कहा। लिंक खोलकर उन्होंने पांच रुपये भरे तो उनके खाते से अलग-अलग किश्तों में एक लाख छह हजार रुपये कट गए।

इस मामले में नेहरू कालोनी थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। दूसरी घटना में सेवलाखुर्द निवासी केदार सिंह ने बताया कि वह टाइल्स सप्लाई करते हैं। 28 फरवरी को उन्हें अज्ञात नंबर से फोन आया। व्यक्ति ने खुद को सेना में बताते हुए कहा कि उनकी यूनिट में तीन हजार टाइल्स की जरूरत है। इसलिए वह टाइल्स भेज दें, वह आनलाइन पेमेंट कर देंगे। अज्ञात व्यक्ति ने गूगल पे के माध्यम से एक रुपया भेजा और केदार सिंह को 25 हजार रुपये रिक्वेस्ट भेजने को कहा। रिक्वेस्ट भेजने पर खाते से धनराशि कट गई।

केदार सिंह ने जब व्यक्ति से उनके खाते से 25 हजार रुपये कटने की बात कही तो अज्ञात व्यक्ति ने कहा कि गलती से धनराशि कट गई है। वह दोबारा से 25 हजार रुपये की रिक्वेस्ट भेजेंगे तो वह 50 हजार रुपये वापस कर देंगे। एक बार फिर केदार सिंह के खाते से 25 हजार रुपये कट गए। तीसरी बार आरोपित ने 22 हजार रुपये की रिक्वेस्ट करने को कहा तो उनके खाते से रुपये कट गए। इस तरह साइबर ठग ने उनके खाते से 72 हजार रुपये उड़ा दिए। पटेलनगर कोतवाली के इंस्पेक्टर रविंदर यादव ने बताया कि अज्ञात आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here