किसी और ने नहीं बल्कि बर्खास्त सिपाही ने करवाया था लुधियाना कोर्ट में ब्लास्ट, खुद भी मारा गया

लुधियाना कोर्ट में हुए ब्लास्ट को लेकर अब सबसे बड़ा खुलासा हुआ है। जानकारी मिली है कि ब्लास्ट करने वाला कोई और नहीं बल्कि पुलिस का कांस्टेबल निकला जो की बम ब्लास्ट में मारा गया। दरअसल ब्लास्ट करने वाला कांस्टेबल नशा तस्करी में मामले में गिरफ्तार हुआ था और जेल में बंद था.  पंजाब पुलिस के डीजीपी ने चंडीगढ़ में इसे लेकर एक अहम प्रेस कॉन्फ़्रेंस करने वाले हैं.

आपको बता दें कि ब्लास्ट में मारा गया शख्स का नाम गगनदीप सिंह उर्फ गग्गी है. जो की पंजाब के खन्ना का रहने वाला था. ये शख्स पुलिस में कॉन्स्टेबल था. अगस्त 2019 में उसे NDPS एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था. अदालत से दोषी ठहराए जाने के बाद उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था.

गगनदीप इसी साल सितंबर में दो साल की जेल काटकर आया था. मौके से जो सुराग मिले हैं, उसके आधार पर जब मृतक की पहचान हुई तो पुलिस और NIA की टीम खन्ना में गगनदीप के घर पहुंच गई. गगनदीप सिंह का पुलिस नंबर 522 था. वो खन्ना के तेग बहादुर नगर में रहता था. लुधियाना की कोर्ट में गगनदीप का केस चल रहा था. इस शख्स की पहचान होने के बाद अब इस गुत्थी को सुलझाने की कोशिश हो रही है कि ब्लास्ट से इसका कनेक्शन क्या था.

पंजाब पुलिस ने सभी जिलों को अलर्ट जारी किया

लुधियाना ब्लास्ट के बाद पंजाब पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया है। अलर्ट के अनुसार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI पंजाब को दहलाने के एक नए ब्लूप्रिंट पर काम कर रही है. इस ब्लूप्रिंट के अनुसार पिछले कुछ महीनों से पाकिस्तान पंजाब में लगातार नशे की खेप, हथियार और विस्फोटक भेजने की कोशिश कर रहा है. खासकर टिफिन बम और ग्रेनेड भेजने पर ज्यादा जोर है. इस बीच फिरोजपुर इलाके में हथियार और हेरोइन की तस्करी तेज हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here