देहरादून में खुलासा : प्रेमिका के शव को जलाकर मसूरी ले जाकर खाई में फेंका, लिव-इन में रहते थे

देहरादून : दो महीने पहले युवती की हत्या कर शव को किमाड़ी के जंगलों में छुपाने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त की निशानदेही पर युवती का शव बरामद किया गया है। उसका हत्यारा उसका प्रेमी ही निकला।

बता दें कि 25 जून को थाना कोतवाली नगर पर हलधर मुखर्जी निवासी क्वार्टर नम्बर 04-2 छोरा अस्पताल, बहला पुलिस स्टेशन अंडाल वर्थमन, पश्चिम बंगाल ने एक शिकायती प्रार्थना दिया गया, जिसमें शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया कि उनकी लड़की निवेदिता मुखर्जी पहले दिल्ली में नौकरी करती थी और बाद में वह जाखन देहरादून आ गयी। निवेदिता मुखर्जी अक्टूबर 2020 में अंकित कुमार के सम्पर्क में आयी और देहरादून में उनकी बेटी निशा गहलोत, चुक्खू मोहल्ला नैशविला रोड, के यहाँ पेइंग गेस्ट हाउस में रहती थी। अंकित चौधरी पुत्र जगपाल चौधरी  (सहारनपुर) का रहने वाला है और वह देहरादून में मैटेरियल सप्लाई व ऑनलाईन नौकरी का कार्य करता है।

मृतका के पिता ने बताया कि बेटी का प्रेमी अंकित कुमार के साथ उनकी बेटी प्रेम सम्बन्ध में थी और वह उससे शादी करना चाहती थी। लगातार अंकित कुमार के सम्पर्क में थी बताया कि उनकी बेटी निवेदिता की उसकी माता से अंतिम बार बात 28. अप्रैल को हुई थी। इतने लंबे समय तक उनकी बेटी से कोई सम्पर्क न होने पर उनको चिंता हुई। बताया कि काफी कोशिश करने के बाद मेरे परिवार का मेरी बेटी के प्रेमी अंकित कुमार से फेसबुक पर सम्पर्क हुआ और जब मेरे परिवार ने उससे निवेदिता के सम्बन्ध में जानकारी मांगी तो उसने बताया कि उसकी मौत हो चुकी है, यह सुनकर हमारे होश उड़ गये।

अंकित ने बताया कि निवेदिता को सिर में दर्द रहता था और वह तनाव में थी, एक दिन अचानक वह फ्लैट से गिर गई और उसकी मौत हो गयी, जब मेरे परिवार ने अंकित से पूछा कि इस घटना के बाद आपने हमे और पुलिस को त्वरित सूचना क्यों नहीं दी और पोस्टमार्टम भी क्यों नहीध कराया तो अंकित ने बताया कि निवेदिता की मौत कि घटना के बाद वह बहुत डर गया था और गहरे सदमे में था, इसलिए पुलिस और परिवार को सूचना नहीं दी।

अंकित ने यह भी बताया कि उसने निवेदिता की मौत के बाद खुद ही उसका अन्तिम संस्कार कर दिया। मृतक के पिता ने कहा कि उनकी बेटी निवेदिता मुखर्जी चक्खु मोहल्ला देहरादून में पेइंग गेस्ट के रूप मे रह रही थी, वहां से जनवरी 2021 में अंकित कुमार खुद को उसका पति बताकर उसे अपने साथ लेकर चला गया था और अंकित ने पुराने पेइंग गेस्ट से रिलीज कराने के बाद निवेदिता को दूसरे पेइंग गेस्ट शिफ्ट कर दिया था, जिसकी उन्हें जानकारी नहीं है।

उक्त प्रकरण की संवेदनशीलता को देखते हुए देहरादून एसएसपी के निर्देश में पुलिस टीम द्वारा तुरंत अंकित कुमार चौधरी को थाना कोतवाली नगर लाया गया और अंकित कुमार से उक्त सम्बन्ध में सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया गया कि वो और निवेदिता लगभग 8 महीने से एक दूसरे को जानते थे और शादी करना चाहते थे। पहले निवेदिता मुखर्जी चुक्खूवाला के पास रहती थी जो 24 अप्रैल 2021 को उसके पास फ्लैट न0-306 रायल होम स्टे, राजपुर रोड स्थित IMS कॉलेज के पास रहने के लिये आ गयी वहीं पर उसके साथ रह रही थी।

28 अप्रैल की रात 12 बजे के आस-पास वह बालकोनी की ग्रिल पर बैठी थी कि अचानक नीचे गिर गयी, वो दौडकर नीचे गया तो उसने देखा कि निवेदिता का एक हाथ टूट गया था और उसके सिर में चोट लगी थी। नाक से खून बह रहा था। कुछ देर बाद निवेदिता मुखर्जी की सांसे बन्द हो गयी और वह मर गयी, जिसको देखकर वो घबरा गया और उसने उसके शव को अपनी गाडी़ की डिग्गी में रखकर फ्लैट के नीचे चल रहे निर्माण कार्य वाले स्थल से कुछ लकड़ियां अपनी गाड़ी की डिक्की में भर ली और शव को मसूरी की तरफ काफी दूर ले गया। मसूरी रोड पर एक सुनसान स्थान पर उसने गाड़ी से पेट्रोल निकाल कर निवेदिता के शव को जला दिया और शव खाई में फेंक दिया, उसके बाद वो वापस देहरादून से आकर अपने गांव में ही रहने लगा।

26 जून को कोतवाली नगर की पुलिस टीम अंकित कुमार चौधरी उपरोक्त को लेकर थाना राजपुर आयी और शिकायतकर्ता की दाखिला तहरीर के आधार पर थाना हाजा पर अंकित कुमार चौधरी के विरूद्ध मु0अ0सं0 136/2021 धारा 302/201 भादवि बनाम अंकित कुमार पंजीकृत कर विवेचना शुरु की गयी । विवेचना के दौरान अंकित कुमार के कब्जे से वादी की पुत्री निवेदिता मुखर्जी के मोबाईल मय आईडी बरामद किये गये।

अंकित कुमार ने पूछताछ बताया कि उसके द्वारा मृतिका निवेदिता मुखर्जी का शव एक गाड़ी से ले जाकर मसूरी किमाड़ी मार्ग पर सुनसान जंगल में पेट्रोल छिड़कर आग लगाने के पश्चात खाई में फेंक दिया था, जिसे वह बरामद करा सकता है। इस पर पुलिस टीम द्वारा अंकित कुमार की निशानदेही पर मृतिका निवेदिता मुखर्जी के शव की बरामदगी अंकित कुमार व मृतिका के परिजनों को लेकर फील्ड यूनिट की टीम के साथ मसूरी किमाड़ी मार्ग पर पहुंची, जहां पर अंकित कुमार की निशानदेही पर मृतिका के सड़े-गले शव को बरामद किया गया। मौके पर मृतिका के परिजनों द्वारा शव की शिनाख्त निवेदिता मुखर्जी के रूप में की गई। मौके से शव को सील-सर्वे मोहर कर पंचायतनामा/पोस्टमार्टम की कार्यवाही के लिए मोर्चरी भेजा गया है। अभियुक्त अंकित कुमार पुत्र जगपाल नि. ग्राम फन्दपुरी थाना नकुड़, सहारनपुर को मुकदमा उपरोक्त में अन्तर्गत धारा 302/201 भादवि में गिरफ्तार कर मा. न्यायालय के समक्ष रिमाण्ड के लिए पेश किया जा रहा है ।

बरामदगी विवरण

1 – मृतका का मोबाईल सैमसंग काले रंग का
2- मृतका का मोबाईल ओप्पो लाईट गोल्डन कलर
3 – मृतका की आई0डी0 (छात्र पहचान पत्र)

*पुलिस टीम का विवरण :-*

1 – सरिता डोभाल , पुलिस अधीक्षक नगर
2 –  शेखर चन्द सुयाल, क्षेत्राधिकारी नगर
3 –  जूही मनराल , क्षेत्राधिकारी डालनवाला
4 – रितेश शाह, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर देहरादून
5 –  राकेश शाह, थानाध्यक्ष राजपुर , देहरादून
6 – उनि लोकेन्द्र बहुगुणा, कोतवाली नगर देहरादून
7 – उनि योगेश चन्द पाण्डेय, चौकी प्रभारी जाखन
8- उनि ताजबर सिंह नेगी, चौकी प्रभारी आईटी पार्क
9- उनि नवीन जोशी, थाना राजपुर
10- उनि ज्योति प्रसाद उनियाल, थाना राजपुर
11- कानि राकेश पंवार, कानि0 जितेन्द्र, कानि, परविन्दर सिंह, थाना राजपुर ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here