पौड़ी DM की सयुंक्त चिकित्सालय श्रीनगर में बैठक, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

पौड़ी जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में आज सयुंक्त चिकित्सालय श्रीनगर में राजकीय संयुक्त उपजिला चिकित्सा प्रबन्धन समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में विगत वित्तीय वर्ष 2019-20 के आय व्यय, वित्तीय वर्ष 2020-21 के अवशेष विवरण एवं स्टाफ पोजिशन, चिकित्सालय की प्रगति, आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 हेतु अनमोदित बजट पत्र, पिछली बैठक में पारित प्रस्तावों की अनुपालन आख्या, आगामी प्रस्तावों पर चर्चा एवं समिति का अनुमोदन तथा अन्य प्रस्तावों पर विचार विमर्श किया।

डीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश

जिलाधिकारी ने सम्बन्धित चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि अस्पताल परिसर में डिजिटल डिस्प्ले बोर्ड लगवाएं, जिस पर स्वास्थ्य सम्बन्धी विभिन्न संदेश निरन्तर चलते रहें। साथ ही उन्होंने कोविड-19 रोकथाम हेतु प्रचार-प्रसार डिस्प्ले पर चलाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने अस्पताल के मुख्य गेट तथा अस्पताल परिसर के बाहरी तरफ फैली गंदगी पर नारागजी जताते हुए साफ-सफाई रखने को कहा।

जिलाधिकारी एवं चिकित्सा प्रबन्धन समिति के सदस्यों द्वारा आगामी वित्तीय वर्ष के प्रस्तावित मांग पर चर्चा की गई। बैठक में 2 करोड़ 10 लाख का बजट प्रस्ताव अनुमोदित कर शासन को भेजने का निर्णय लिया गया। बैठक में गत वर्ष किये गए निर्माण कार्य, अनुरक्षण कार्य, साफ सफाई की व्यवस्था तथा भोजन व्यवस्था की अनुमानित लागत को देखते हुए बजट को बढ़ाया गया है। गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष मरीजों की संख्या में हुई वृद्वि को देखते हुए दवा आपूर्ति का बजट भी बढ़ाया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि अस्पताल परिसर में एक सुपर वाइजर सहित 14 सफाई कर्मचारी को वर्दी दी जाए और शासनादेश के अनुसार ही कर्मचारियों को रखा जाए। बैठक में अस्पताल परिसर के मुख्य मार्ग के संकुचित होने से आ रही समस्या को देखते हुए चैड़ीकरण करने की मांग भी उठायी गयी। जिलाधिकारी ने बैठक के उपरांत पुराने चिकित्सा भवन तथा आवासीय भवनों का बाहरी निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने पुराने चिकित्सालय भवन के स्थान पर पार्किंग हेतु कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारी को दिए। साथ ही अस्पताल परिसर के आस-पास फैली गंदगी के निस्तारण करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने बैठक के बाद संयुक्त उपजिला चिकित्सालय श्रीनगर के जनरल वार्ड का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों से उनका हाल-चाल जाना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here