उत्तराखंड: मामले बढ़े तो फीका पड़ सकता है शादियों का जश्न, ये है सरकार की तैयारी

देहरादून: कोरोना के मामले बढ़ने के साथ ही सरकार और शासन ने कोरोना को रोकने की तैयारी भी तेज कर दी है। अगर मामले बढ़ते हैं तो सरकार और कड़े कदम उठा सकती है। मुख्य सचिव ने सभी जिलों की समीक्षा के बाद जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वो लगातार नए मामलों पर नजर बनाए रखें और कोरोना से निपटने के लिए जरूरी कदम भी उठाएं, जिससे स्थिति को नियंत्रण के बाहर होने से बचाया जा सके।

मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू ने सभी जिलाधिकारियों को ओमिक्रॉन वैरिएंट से बचाव को लेकर निर्देश दिए हैं। राज्य सचिवालय में समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने बचाव एवं सुरक्षा के लिए विशेष कदम उठाए जाने के निर्देश जारी दिए हैं। उन्होंने सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के जारी निर्देशों के क्रम में जिलाधिकारियों को रोकथाम के उपाय एवं प्रतिबंधों का अनुपालन करने को कहा।

उन्होंने कहा कि सभी जिलों में कोविड के मामलों पर लगातार नजर बनाए रखें। जनसंख्या और इसके घनत्व के अनुरूप ओमिक्रॉन को फैलने से रोकने के लिए कंटेनमेंट जोन और प्रतिबंधों लगाए जाएं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को कंटेनमेंट स्ट्रैटेजी, टेस्टिंग, ट्रेकिंग, आइसोलेशन, सर्विलांस, पर्याप्त क्लीनिकल प्रबंधन, टीकाकरण और कोविड अनुकूल व्यवहार के अनुपालन की कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कोविड मामलों के बढ़ने पर नाइट कर्फ्यू, अधिक भीड़ एकत्र होने पर प्रतिबंध, विवाह और अंत्येष्टि में संख्या कम करना, कार्यालयों, उद्योगों और सार्वजनिक परिवहन में संख्या सीमित करने जैसे कदम उठाए जाने के निर्देश दिए हैं।मुख्य सचिव ने कोविड टेस्टिंग आईसीएमआर और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुरूप कराए जाने के साथ ही, डोर टु डोर केस सर्च और जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए सैंपल शीघ्र से शीघ्र भेजे जाने पर भी जोर दिया है।

विदेश से आए यात्रियों पर खास निगरानी रखी जाएगी। मुख्य सचिव ने कहा कि ऐसी यात्रियों की सैंपलिंग और मॉनिटरिंग को प्राथमिकता के साथ किया जाए। उन्होंने कोविड पॉजिटिव लोगों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुरूप टेस्टिंग कराए जाने के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने जनपद स्तरीय कंट्रोल रूम और उनके नंबरों को एक्टिव मोड में रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने पर्याप्त संख्या में आइसोलेशन बेड, ऑक्सीजन बेड और आईसीयू बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने, कोविड वैक्सीनेशन की 100 प्रतिशत कवरेज करने, आमजन कोविड अनुरूप व्यवहार एवं मास्क पहनने के प्रति जनजागरूकता के लिए भी लगातार अभियान चलाए जाने को भी कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here