भारत में कोरोना से हुईं 34 से 47 लाख मौतें, रिपोर्ट में दावा

भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या को लेकर एक नया अनुमान सामने आया है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या भारत सरकार के आंकड़ों के कही अधिक है।

अमेरिका और अन्य देशों में काम करने वाली अलाभकारी संस्था सेंटर फॉर ग्लोबल डेवलपमेंट के एक शोध में सामने आया है कि भारत में कोरोना से 34 से 47 लाख लोगों की मौत हुई है। ये आंकड़ा सरकार के आंकड़ों से लगभग दस गुना अधिक है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत में चार लाख लोगों की मौत हुई है।

वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं का कहना है कि भारत सरकार के आंकड़े वास्तविक संख्या से कम है. अप्रैल और मई में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर भारत में चरम पर थी, तब देशभर के अस्पतालों में जगह नहीं थी, मरीजों को वापस भेजा जा रहा था. बाद में उन मरीजों की घर पर मौत हो गई।

सेंटर फॉर ग्लोबल डेवलपमेंट के शोधकर्ताओं ने जनवरी 2020 से जून 2021 तक 34 लाख से 47 लाख के बीच मौत का अनुमान जताया है. रिपोर्ट में कहा गया, असल में मौत लाखों में होने की संभावना है, न कि सैकड़ों में।

वहीं नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन ड्रग एब्यूज (एनआईडीए) और नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ हेल्थ (एनआईएच) के अध्ययन में कहा गया है कि भारत में 25,500 बच्चों ने कोविड के कारण अपनी मां को खो दिया जबकि 90,751 बच्चों ने अपने पिता को खो दिया।

कोरोना महामारी के पहले 14 महीनों के दौरान भारत के एक लाख 19 हजार बच्चों समेत 21 देशों में 15 लाख से अधिक बच्चों ने संक्रमण के कारण अपने माता-पिता को खो दिया जो उनकी देखभाल करते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here