14 फरवरी…देश के लिए ‘काला दिन’, उत्तराखंड के 2 जवान सहित भारत मां ने खोए थे 40 जांबाज

कल 14 फरवरी वेलेंटाइन डे को लेकर लोग काफी उत्साहित हैं। खास तौर पर नौजवान युवक और युवतियां…लेकिन इस दिन को देश में काला दिन के रुप में भी मनाया जाता है। जी हां ये वहीं तारीख है जब हमारे देश ने 40 जवानों को खोया था। जिससे पूरा देश ही नहीं पूरी दुनिया हिल गई थी। जी हां पुलवामा आतंकी हमला जो 14 फरवरी को हुआ था जब 78 वाहनों का काफिला 2500 जवानों को लेकर जम्मू से श्रीनगर जा रहा था। ये काफिला अवंतीपोरा के पास लेथीपोरा में नेशनल हाइवे 44 से गुजर रहा था। करीब दोपहर 3.30 बजे 350 किलो विस्फोट से भरी एक एसयूवी काफिले में घुसी और भयंकर धमाका हुआ। जिस बस से एसयूवी टकराई उसके परखच्चे उड़ गए। इस दौरान जवान सो रहे थे।

उत्तराखंड ने खोए थे दो जवान

जब देश में 14 फरवरी 2019 को वैलेंटाइन डे मनाया जा रहा था तभी एक खबर से पूरा देश दहल गया. साल 2019 के फरवरी महीने की 14 तारीख ने देश को झकझोर कर रख दिया था। बीते दिन 14 फरवरी रविवार को इस आतंकी घटना को दोपहर सवा तीन बजे 2 साल पूरे हो रहे हैं, इस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर हमलावर ने विस्फोटक भरी कार से सीआरपीएफ काफिले की बस को टक्कर मार दी थी। जिसमे देश ने 40 जवान खोए जिसमे से दो उत्तराखंड के रहने वाले थे। एक शहीद उधमसिंह नगर के वीरेंद्र सिंह राणा और दूसरे शहीद मोहन लाल रतूड़ी मूल रूप से उत्तरकाशी के रहने वाले थे, लेकिन कई वर्षों से बच्चों की पढ़ाई की खातिर देहरादून में रह रहे थे।
काला दिवस के रुप में मनाया जाता है 14 फरवरी 
लोगों ने इस हमले के बाद पाकिस्तान का जमकर विरोध किया था और देशभर में पुतला दहन किया गया था। लोगों ने 14 फरवरी को काला दिवस के रुप में मनाने की ठानी थी। बता दें कि इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद संगठन ने ली थी जिसमे जैश ए मोहम्मद संगठन से जुड़े आतंकी आदिल अहमद उर्फ वकास का नाम सामने आया था। इस हमले से सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया हिल गई थी। पाक कोलेकर कई देशों ने रोष व्यक्त किया था और आंतकियों को पनाह देने का आरोप लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here