धर्मांतरण मामले में मूक बधिर लोगों की आवाज बना इरफान गिरफ्तार, PM मोदी कर चुके हैं जमकर तारीफ

उत्तर प्रदेश की ATS धर्मांतरण के आरोपियों की तलाश में है। अभी तक कई गिरफ्तारियां हो चुकी है। साथ ही कई खुलासे भी फंडिंग को लेकर हुए हैं जिससे यूपी समेत देश में सनसनी फैल गई है। एक आरोपी के तार उत्तराखंड के नैनीताल से जुड़े हैं। वहीं बतादें कि इस मामले में अब जिस आरोपी की गिरफ्तारी हुई है उसका इतिहास जानकर हर कोई हैरान है। जी हां बता दें टीम ने मंगलवार को महाराष्ट्र के बीड से इरफान ख्वाजा खान को गिरफ्तार किया गया जो की मिनिस्ट्री ऑफ चाइल्ड वेलफेयर में ट्रांसलेशन का काम करता है।

पीएम मोदी के भाषण को इशारों में मूक बधिर लोगों को समझाया था।

वहीं इरफान के पकड़े जाने के बाद बड़ा खुलासा हुआ है। जानकारी मिली है कि ये आऱोपी इरफान दो बार पीएम मोदी संग मंच साझा कर चुका है। पहली बार 2017 में और दूसरी बार 2020 में। इन दोनों ही कार्यक्रमों में इरफान ने प्रधानमंत्री मोदी के भाषण को इशारों में मूक बधिर लोगों को समझाया था। बता दें कि इनमे से एक कार्यक्रम उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और दूसरा गुजरात के राजकोट में हुआ था। राजकोट में कार्यक्रम 29 जून 2017 को हुआ था। दिव्यांगों के लिए हुए इस कार्यक्रम में इरफान ने PM मोदी के भाषण को साइन लैंग्वेज में ट्रांसलेट किया था। मतलब जो लोग सुन नहीं सकते थे, उन्हें PM मोदी के भाषण को इशारों में समझाया था।

दूसरा कार्यक्रम प्रयागराज में 29 फरवरी 2020 को हुआ। यहां भी इरफान ही PM मोदी का ट्रांसलेटर बनकर आया था। कार्यक्रम के बाद PM मोदी इरफान के पास पहुंचे और उसकी पीठ थपथपाई थी। इरफान ने तब मीडिया को ये भी बताया था कि प्रधानमंत्री से प्रशंसा के दो शब्द मिलना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। यह पल मुझे ताउम्र याद रहेगा। इस मामले में यूपी ATS के IG जीके गोस्वामी का कहना है कि इरफान मिनिस्ट्री ऑफ चाइल्ड वेलफेयर में जिम्मेदार पद पर पोस्टेड था। हो सकता है वह किसी कार्यक्रम में PM के साथ शामिल हुआ हो। हमारी इन्वेस्टिगेशन में सामने आया है कि वह धर्मांतरण के मामले में शामिल था। उसकी भूमिका अहम है। इस मामले में अभी और भी जांच चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here