हरिद्वार में दसवीं का एक छात्र तमंचा व कारतूस लेकर पहुंचा स्कूल, 12वीं के छात्र को मारने का था इरादा

Gun violence
हरिद्वार के एक स्कूल में कहासुनी के बाद 10वीं का एक छात्र 12वीं के छात्र को जान से मारने के लिए स्कूल में तमंचा आर कारतूस लेकर पहुंच गया। जिससे वहां हड़कंप मच गया। पुलिस ने प्रधानाचार्य की तहरीर पर नाबालिग छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। छात्र को किशोर न्याय बोर्ड के पेश किया गया है।

जानकारी के मुताबिक हरिद्वार के मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के एक स्कूल में कहासुनी के बाद 10वीं का एक छात्र 12वीं के छात्र को जान से मारने के लिए स्कूल में तमंचा और कारतूस लेकर पहुंच गया। जिससे वहां हड़कंप मच गया। अन्य छात्रों की सूचना पर स्कूल के प्रधानाचार्य ने छात्र के बक्से के अंदर से तमंचा बरामद कर लिया और उसे पहले जिलाधिकारी फिर पुलिस के पास लेकर गए। पुलिस ने प्रधानाचार्य की तहरीर पर नाबालिग छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है। छात्र को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया गया।

बताया जा रहा है कि दीवाली की छुट्टी में जब छात्र अपने घर मंगलौर गया तो उसने पैसे जमा करने के बाद तमंचा और कारतूस स्कूल ले आया। उसने ये बात स्कूल के कुछ छात्रों को यह बात बताई कि जैसे ही उसे मौका मिलेगा वो 12वीं के छात्र को जान से मार देगा। छात्रों ने यह जानकारी प्रधानाचार्य को बता दी। छात्रों से मिली सूचना पर प्रधानाचार्य ने छात्र के बक्से की तलाशी ली तो उसमें से तमंचा और कारतूस बरामद हुए। जिसके बाद प्रधानाचार्य ने छात्र को तमंचे और कारतूस के साथ हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय के पास लेकर पहुंचकर सारे मामले की जानकारी दी। जिस पर जिलाधिकारी ने उन्हें सिडकुल थाने भेजा। इंस्पेक्टर सिडकुल प्रमोद उनियाल के मुताबिक तमंचे और कारतूस कब्जे में लेकर छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, और छात्र को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here