उत्तराखंड : 20 साल बाद कैसी होगी दिल्ली, IIT रुड़की बना रही 2041 का नक्शा

रूड़की: 20 साल बाद यानी वर्ष 2041 में दिल्ली का मॉडल कैसा होगा इसपर रुड़की आईआईटी और दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के बीच करार हुआ है। देश की नामचीन संस्थान के प्रोफेसर दिल्ली के 2041 का नक्सा तैयार कर रहे है। जिसमे स्मार्ट सिटी के स्तर की तमाम सुविधाएं शामिल होंगी। इमारत की तस्वीर से लेकर ड्रेनेज प्लान का खाका भी रखा जाएगा, ताकि तमाम तरह की सुविधाओं से दिल्ली लैस हो सके, और यहां रहने वाले लोगो को किसी दिक्कत का सामना ना करना पड़े।

आपको बता दे दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) और रुड़की आईआईटी संस्थान के बीच एमओयू हो गया है। पहले फेज में करीब सात करोड़ खर्च होंगे जिसमें दिल्ली का खाका तैयार कर जीआईएस आधारित मास्टर प्लान बनाया जाएगा। 160 बिंदुओं को शामिल कर तैयार होने वाले मास्टर प्लान में अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल होगा। इसमें स्मार्ट सिटी के स्तर की सभी सुविधाएं शामिल होंगी।

गौरतलब है कि वर्ष 1962 के बाद से दिल्ली का कोई मास्टर प्लान तैयार नहीं हुआ है। अब डीडीए ने आने वाले 20 वर्षों में दिल्ली के नवनिर्माण की कवायद शुरू की है। इसके तहत बड़ी आबादी को रहन-सहन की तमाम सुविधाओं को ध्यान में रखा जा रहा है। आईआईटी रुड़की की तरफ से सिविल डिपार्टमेंट के वैज्ञानिक प्रो. कमल जैन ने एमओयू साइन किया है।

प्रो.जैन ने बताया कि एमओयू के अनुसार करीब 1500 वर्ग किमी क्षेत्र का नक्शा तैयार किया जा रहा है। नक्शा तैयार होने के बाद पूरी दिल्ली के सभी भवनों का फील्ड सर्वे होगा। अगले चरण मास्टर प्लान में सुविधाओं का खाका तैयार होगा। इसमें ड्रेनेज, अतिक्रमण, वाटर सप्लाई समेत स्मार्ट सिटी के स्तर की कम्यूनिटी फैसिलिटी का पूरा प्लान होगा। वर्ष 2041 में दिल्ली की वर्तमान तस्वीर कैसी होगी इसकी ये नक्से में तैयार की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here