हरीश रावत का बड़ा आरोप, कहा-उत्तराखंड सरकार ने टिहरी बांध का स्वामित्व यूपी को बेच दिया

देहरादून। सीएम धामी दो दिवसीय लखनऊ दौरे पर थे।इस दौरान सीएम धामी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक की। इस दौरान मंत्री यतीश्वरानंद भी उनके साथ रहे। दोनों राज्यों के सीएम ने परिसंपत्ति बंटवारे को लेकर चर्चा की और 21 साल बाद परिसंपत्ति बंटवारे को लेकर सहमति बनने का दावा किया। सीएम ने कहा कि कई मामलों को सुलझाया गया। सीएम ने मीडिया को दिए बयान में साफ कहा कि सीएम योगी ने बड़े भाई की तरह हैं जिन्होंने सारे बातें सुनी और अपनी सहमति दी। सीएम ने कहा कि कई मामलों को सुलझा लिया गया है और जो बच्चे मामले हैं उन्हें जल्द सुलझा दिया जाएगा। अब कांग्रेस इस पर हमला वर हो गई है।

उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के बीच परिसंपत्ति विवाद मामले को लेकर हमला

हरीश रावत ने प्रेसवार्ता करते हुए बड़ा बयान दिया और सरकार को घेरा। हरीश रावत ने उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के बीच परिसंपत्ति विवाद मामले में कहा कि ये झूठ और तथ्यहीन है। हरीश रावत ने परिसंपत्ति विवाद के निपटारे का दावा किया। हरीश रावत ने कहा कि  उत्तराखंड के अधिकारों को उत्तर प्रदेश को बेच दिया गया। भविष्य के लिए भी उत्तराखंड को नुकसान होगा।

जलाशयों में पर्यटन गतिविधि के लिए अनुमति मिलने पर जताई हैरानी

हरीश रावत ने जलाशयों में पर्यटन गतिविधि के लिए अनुमति मिलने पर हैरानी जताई। हरीश रावत ने कहा कि जलाशयों पर सरकार ने यूपी का स्वामित्व माना। हरीश रावत ने आरोप लगाते हुआ कहा कि टिहरी डैम के स्वामित्व पर यूपी को अधिकार मिला है। न्यायालय में चल रहे विवाद वापस लेने के फैसले पर सवाल उठाए। हरीश रावत का बड़ा आरोप है कि सरकार ने टिहरी बांध का स्वामित्व यूपी को बेच दिया।

योगी और धामी की बैठक को बताया काला दिन 

हरीश रावत ने सीएम योगी और धामी की बैठक को काला दिन बताया। कांग्रेस ने सरकार के दावों को खारिज किया। हरीश रावत ने बडा़ हमला करते हुए कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने यूपी के मुख्यमंत्री के सामने आत्मसमर्पण किया। पुष्कर धामी उत्तराखंड के हितों की रक्षा करने में नाकाम रहे। हरीश रावत का आरोप 75 और 25 के अनुपात में बंटवारे को खत्म करने पर उठाए सवाल। अब संपत्तियों के सर्वे कराने पर सवाल उठाए । कांग्रेस ने 75 और 25 के फार्मूले को नहीं माना लेकिन TSR ने मान लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here