पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत ने रखा एक घंटे का मौन उपवास, जानिए कारण

देहरादून : पूर्व सीएम हरीश रावत आज अपने आवास पर एक घंटे के लिए मौन उपवास पर बैठे। हरीश रावत ने हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा में कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। उन्होंने शासन प्रशासन और भाजपा के दवाब में यह हो रहा है, ऐसा रावत ने आरोप लगाय है. हरिद्वार ग्रामीण से हरीश रावत की पुत्री अनुपमा रावत हैं कांग्रेस विधायक. इस बार चुनाव में उन्होंने यतीश्वरानंद को हराया था.
हरीश रावत की पोस्ट
हरीश रावत ने लिखा कि ॐ शांति… मेरा मन जिस तरीके की घटनाएं हरिद्वार ग्रामीण में हो रही हैं उससे बहुत आक्रोशित और बहुत उद्वेलित है। लोगों को केवल इसलिए दंड दिया जा रहा है कि सत्तारूढ़ दल को वोट नहीं दिया है। अधिकारी जिसमें पुलिस भी सम्मिलित है, उत्पीड़न का हिस्सा बनी हुई है, उनको अपनी पोजीशन बचानी है. हरिद्वार जनपद के ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में जिस प्रकार विपक्ष के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न हो रहा है और शासन व प्रशासन, भाजपा के दबाव में इस उत्पीड़न को कर रहा है मैं, उस उत्पीड़न के विरोध में अपना आक्रोश व्यक्त करने के लिए अपने देहरादून स्थित आवास पर 1 घंटे का “मौन उपवास” किया।
मौन उपवास से पहले हरीश रावत ने जानकारी देते हुए बताया था कि मैं आज दिनांक-29 मार्च, 2022 को 11 से 12 बजे तक जिस समय राज्य के महामहिम राज्यपाल विधानसभा में अपना अभिभाषण दे रहे होंगे, हरिद्वार जनपद के ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में जिस प्रकार विपक्ष के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न हो रहा है और शासन व प्रशासन, भाजपा के दबाव में इस उत्पीड़न को कर रहा है मैं, उस उत्पीड़न के विरोध में अपना आक्रोश व्यक्त करने के लिए अपने देहरादून स्थित आवास पर 1 घंटे का “मौन उपवास” रखूंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here