हरिद्वार : देखिए कैबिनेट मंत्री और योग गुरु का प्रेम, ना मास्क और ना कोरोना का डर

हरिद्वार : कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी हरिद्वार पहुंचे जहां उन्हें योग गुरु बाबा रामदेव से मुलाकात की। इसी के साथ कैबिनेट मंत्री बालकृष्ण आचार्य से भी मिले। इस दोनों दोनों बिन मास्क के नजर आए और कोरोना गाइडलाइन का पालन करते नहीं दिखे। पीएम मोदी अक्सर अपने संबोधन में कहते हैं और लोगों से अपील करते हैं कि दो गज की दूरी जरुरी है और साथ ही हाथ मिलाने की जगह नमस्कार करें लेकिन उन्ही के मंत्री कोविड गाइडलाइन का पालन करते नहीं दिखे।

पीएम मोदी की अपील को खुद उन्हीं के मंत्री नजर अंदाज करते दिखे

योग गुरु बाबा रामदेव अक्सरलोगों से अपील करते हैं कि मास्क पहने और कोविड गाइड लाइन का पालन करें लेकिन बाबा रामदेव का भाजपा सरकार के मंत्री के प्रति इतना प्रेम है कि वो खुद गाइडलाइन को अनदेखा कर बैठे और बिन मास्क के नजर आए और इतना ही नहीं वो कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी से लिपटकर गले मिले। पीएम मोदी की अपील को खुद उन्हीं के मंत्री नजर अंदाज करते दिखे।

उत्तराखंड सरकार और पतंजलि सूक्ष्म और लघु उद्योग के क्षेत्र में मिलकर काम करने के बारे में बात की

आपको बता दें कि गणेश जोशी ने बाबारामदेव से मुलाकात कर उत्तराखंड सरकार और पतंजलि सूक्ष्म और लघु उद्योग के क्षेत्र में मिलकर काम करने के बारे में बात की। पहाड़ों पर होने वाली उपज को बढ़ावा देने के लिए भी सरकार पतंजलि के साथ मिलकर काम करने की योजना बना रही है। उत्तराखंड सरकार के औद्योगिक विकास एवं सुक्ष लघु उद्योग मंत्री गणेश जोशी ने पतंजलि के महामंत्री बालकृष्ण से मुलाकात की।गणेश जोशी ने इस मुलाकात के बाद कहा कि पतंजलि ने उद्योग के क्षेत्र में जो क्रांति की है उत्तराखंड सरकार उसका लाभ राज्य में कैसे ले सकती है इसके लिए हम बाबा रामदेव और बालकृष्ण के अनुभवों का लाभ लेंगे।

उन्होंने कहा कि उनके पास वक्त कम है और उन्हें ट्वेंटी ट्वेंटी मैच की तर्ज पर काम करते हुए राज्य में औद्योगिक विकास को तेज करना है। आचार्य बालकृष्ण ने भी कहा कि पतंजलि राज्य के औद्योगिक विकास में राज्य सरकार के साथ काम करने का इच्छुक है और हम दोनों मिलकर राज्य के औद्योगिक विकास के लिए कुछ बड़ा करेंगे।Vo 1- राज्य के नए नवेले औद्योगिक विकास,सैनिक कल्याण  और लघु उद्योग मंत्री गणेश जोशी अपने पहले दौरे पर हरिद्वार पंहुचे। हरिद्वार में उनके विभिन्न कार्यक्रम हुए। गणेश जोशी पतंजलि के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण से भी मिले। दोनों के बीच राज्य के औद्योगिक विकास को लेकर चर्चा हुई। दोनों के बीच इस बात को लेकर भी चर्चा हुई कि पतंजलि के अनुभवों का लाभ लेकर कैसे राज्य के औद्योगिक विकास के लिए योजना बनाई जाए। दोनों की मुलाकात में इस बात पर भी चर्चा हुई कि पहाड़ों पर होने वाली उपज को भी बढ़ावा देने के लिए पतंजलिके साथ मिलकर कैसे काम किया जा सकता है।

मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि हम पतंजलि की औद्योगिक क्रांति का लाभ राज्य के औद्योगिक विकास के लिए लेंगे और पतंजलि के साथ मिलकर काम करेंगे। कुछ भी हो जिस तरह से कोरोना का कहर फिर से बरप रहा है हर किसी को गाइडलाइन का पालन करना चाहिए फिर चाहे वो आम हो या खास।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here